ED ने मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे को किया तलब, 3 दिन पहले हुए हैं रिटायर

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे को 5 जुलाई को तलब किया है. मनी लांड्रिंग केस में जांच एजेंसी ने उन्हें समन भेजा है.

ED ने मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे को किया तलब, 3 दिन पहले हुए हैं रिटायर

ED ने मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त संजय पांडे को समन भेजा

मुंबई:

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे (Mumbai Former police commissioner Sanjay Pandey) को 5 जुलाई को तलब किया है. खबरों के मुताबिक, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के को लोकेशन मामले में मनी लांड्रिंग केस में जांच एजेंसी ने उन्हें समन भेजा है. संजय पांडे को 5 जुलाई को एजेंसी के समक्ष पेश होने का निर्देश दिया गया है. संजय पांडेय इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए उपलब्ध नहीं हो सके, लेकिन ईडी अधिकारी ने कहा कि पूर्व पुलिस आयुक्त दिल्ली में ईडी के समक्ष पेश हो सकते हैं. एनएसई को लोकेशन स्कैम केस की सीबीआई वर्ष 2018 से जांच कर रही है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि कैसे वर्ष 2001 में संजय पांडेय द्वारा बनाई गई ऑडिट कंपनी एनएसई सर्वर से छेड़छाड़ के बारे में कभी किसी कोई अलर्ट नहीं किया. 

संजय पांडे 30 जून को सेवानिवृत्त हुए हैं. इससे पहले, संजय पांडे से मार्च में सीबीआई ने पूछताछ की थी. संजय पांडे से सीबीआई ने तकरीबन 6 घंटे तक सवाल जवाब किए थे. पूर्व पुलिस कमिश्नर से ये पूछताछ अनिल देशमुख से जुड़े 100 करोड़ रुपये की वसूली मामले में की गई थी.  

पूर्व पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह ने इस मामले में कई आरोप लगाए थे. सीबीआई ने सौ करोड़ की वसूली केस में अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के खिलाफ कथित तौर पर आपराधिक साजिश  से संबंधित आईपीसी की धाराओं और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा के तहत मामला दर्ज किया है. मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने आरोप लगाया था कि देशमुख ने एंटीलिया मामले में  बर्खास्त मुंबई पुलिस अधिकारी सचिन वाजे से कथित तौर पर 100 करोड़ से अधिक की उगाही करने के लिए कहा था.  

महाराष्ट्र सरकार ने मार्च 2022 में महाराष्ट्र के पूर्व कार्यवाहक पुलिस महानिदेशक संजय पांडे को मुंबई का नया पुलिस आयुक्त नियुक्त किया था. उन्होंने हेमंत नागराले की जगह ली थी, जिन्हें 2021 परमबीर सिंह को पद से हटाए जाने के बाद मुंबई का पुलिस प्रमुख बनाया गया था. नागराले को प्रबंध निदेशक के तौर पर महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा निगम में स्थानांतरित कर दिया गया था. गौरतलब है कि मुंबई में पुलिस कमिश्नर का पद पिछले कुछ वर्षों में काफी सुर्खियों में रहा है. 100 करोड़ रुपये के वसूली केस और मुंबई पुलिस के बर्खास्त पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाजे के मामले के बाद पुलिस आयुक्त को लेकर तमाम चुनौतियों से जूझना पड़ा है. 

मुंबई पुलिस में आईपीएस रश्मि शुक्ला से जुड़े फोन टैप कांड ने भी काफी भूचाल मचाया था. उन्हें इस मामले में जांच का सामना करना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें- 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में द्रोपदी मुर्मू के चुनाव अभियान पर चर्चा