खोपड़ी टूटी थी, ब्रेन का मैटर गायब, पसलियां बाहर थीं... : पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

Kanjhawala Case: युवती का पोस्टमार्टम मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (एमएएमसी) परिसर में एक मेडिकल बोर्ड की निगरानी में किया गया.

खोपड़ी टूटी थी, ब्रेन का मैटर गायब, पसलियां बाहर थीं... :  पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

आरोपी घटना के समय नशे में थे और लौटते समय अंजलि की स्कूटी में टक्कर मार दी थी.

नई दिल्ली:

Kanjhawala Case: नया साल शुरू होने के कुछ घंटों के भीतर बाहरी दिल्ली के कंझावला इलाके में 20 साल की युवती को कार के साथ करीब 13 किलोमीटर तक घसीटा गया था. इस हादसे में उसकी मौत हो गई थी. पीड़िता की ऑटोप्सी रिपोर्ट के अनुसार उसे कम से कम 40 बाहरी चोटें थीं. उसकी पसलियां उसकी पीठ से निकली हुई थीं. सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में कहा गया है कि उसकी खोपड़ी टूटी हुई थी, ब्रेन का मैटर गायब था, उसके सिर, रीढ़ और निचले अंगों में चोटें थीं. मृत्यु का कारण "सदमा और रक्तस्राव" माना गया है. रिपोर्ट के अनुसार चोटों सामूहिक रूप से मृत्यु का कारण हो सकती हैं. यौन उत्पीड़न का कोई संकेत नहीं है. पीड़िता की मां को डर था कि उसके साथ बलात्कार किया गया है क्योंकि मंगलवार को उसका शव सड़क के किनारे पाया गया था.

डॉक्टरों ने कल आरंभिक रिपोर्ट में कहा था, ‘‘सिर, रीढ़ की हड्डी, बायीं जांघ की हड्डी और दोनों पैरों में गंभीर चोट पहुंचने के परिणामस्वरूप रक्तस्राव हुआ और आघात लगा. सभी चोटें संभवत: वाहन से हुई दुर्घटना और घसीटे जाने के कारण लगीं.''  हालांकि, अंतिम रिपोर्ट रासायनिक विश्लेषण और जैविक नमूनों की रिपोर्ट मिलने के बाद दी जाएगी.

आखिर क्या हुआ था उस दिन

नए साल के पहले ही दिन तड़के अंजलि की स्कूटी को एक कार ने टक्कर मार दी और कार में फंस गयी अंजलि को वे लोग करीब 13 किलामीटर तक सड़कों पर घसीटते रहे जिससे उसकी मौत हो गई. उसका शव बाहरी दिल्ली के कंझावला इलाके में सड़क किनारे पड़ा मिला था.

आरोपी सबसे पहले नए साल के मौके पर हरियाणा के मुरथल में ढाबे पर खाना खाने गए थे. घटना के समय वे नशे में थे और लौटते समय अंजलि की स्कूटी में टक्कर मार दी. अंजलि सिंह की सहेली ने बताया कि वे शनिवार की रात अपने दोस्तों से मिलने एक होटल में गई थीं. उसने दावा किया, अंजलि शराब के नशे में थी और उसने स्कूटी चलाने नहीं देने पर चलते दुपहिया से कूदने की धमकी भी दी. पीड़िता की दोस्त ने दावा किया, ‘‘हम देर रात करीब 1:45 बजे होटल से निकले. वह (अंजलि) स्कूटी चलाना चाहती थी, लेकिन मैंने कहा कि मैं चलाउंगी. जब हम वहां से निकल गए और रास्ते में थे तो अंजलि ने कहा कि अगर उसे स्कूटी नहीं चलाने दी तो वह चलते दुपहिया से कूद जाएगी. उसने कहा कि यह मेरी स्कूटी है और मैं चलाउंगी.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उसने दावा किया, ‘‘मैंने उसे स्कूटी चलाने दी. कुछ दूर ही चलने पर हम ट्रक को टक्कर मारते-मारते बचे. हालांकि मैं पीछे बैठी थी, लेकिन फिर भी ब्रेक लगाने में कामयाब रही. फिर हम वहां से चले और आगे बढ़े. लेकिन एक अन्य कार ने हमारी स्कूटी को टक्कर मार दी. अंजलि कार के नीचे फंस गई, जबकि मैं सड़क की दूसरी ओर जा गिरी.'' (भाषा इनपुट के साथ)