विज्ञापन
Story ProgressBack

तूफान रेमल के असर से पूर्वोत्तर में भारी बारिश, पेड़ उखड़ें; हवाई और ट्रेन यातायात भी प्रभावित

चक्रवाती तूफान रेमल ने बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में भारी नुकसान पहुंचाया. अब रेमल का असर पूर्वोत्तर राज्यों में देखा जा रहा है.

Read Time: 4 mins
तूफान रेमल के असर से पूर्वोत्तर में भारी बारिश, पेड़ उखड़ें; हवाई और ट्रेन यातायात भी प्रभावित
चक्रवाती तूफान रेमल से भारी नुकसान

चक्रवाती तूफान रेमल के कारण पूर्वोत्तर में भारी बारिश हो रही है. अरुणाचल, असम और मेघालय के लिए अत्यधिक भारी बारिश का रेड अलर्ट भी जारी किया गया है. वहीं त्रिपुरा, मिजोरम, मणिपुर और नागालैंड के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया. इसके अलावा पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों में तेज़ हवाओं के साथ भारी बारिश, गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है. चक्रवाती तूफान के असर को देखते हुए सरकार की तरफ से कई एतहियाती उपाय भी किए गए हैं.

Latest and Breaking News on NDTV

ट्रेन और उड़ान सेवाएं प्रभावित

खराब मौसम के कारण पूर्वोत्तर के कुछ हिस्सों में उड़ान सेवाएं बाधित रहेगी. रेमल के प्रभाव के कारण पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के तहत ट्रेन सेवाएं भी बाधित हो गई हैं. मंगलवार सुबह गुवाहाटी हवाई अड्डे के अधिकारियों ने कहा है कि निर्धारित उड़ान संचालन सामान्य था. 

  • इंफाल को कोलकाता और अन्य पूर्वोत्तर गंतव्यों से जोड़ने वाली तीन उड़ानें रद्द
  • कोलकाता और गुवाहाटी से सिलचर जाने वाली चार उड़ानें भी रद्द
  • आइजोल और अगरतला हवाईअड्डों पर भी उड़ानें प्रभावित हुई
  • नौ उड़ानें रद्द की गईं और एक का मार्ग बदला गया
Latest and Breaking News on NDTV

पूर्वोत्तर में कहां कितना नुकसान

आइजोल में चक्रवात के असर की वजह से पत्थर की खदान ढह गई. जिसमें कई मजदूरों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है. खोज और बचाव अभियान शुरू किया गया है. इसके अलावा आइजोल में सामुदायिक कब्रिस्तान ढह गया. भारी भूस्खलन के कारण मिजोरम में लेंगपुई हवाईअड्डे का रास्ता अवरुद्ध हो गया. मेघालय के तुरा, गारो हिल्स में कल रात आए तूफान में कई बड़े पेड़ गिर गए.

Latest and Breaking News on NDTV

कई हिस्सों में जोरदार बारिश, स्कूल बंद

तूफान के असर को देखते हुए त्रिपुरा, मेघालय में स्कूल बंद रहेंगे. चक्रवात रेमल के कारण असम, मेघालय, त्रिपुरा, मिजोरम और मणिपुर के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई, हालांकि अभी तक किसी बड़े नुकसान या हताहत की कोई रिपोर्ट सामने नहीं आई है. जबकि आईएमडी ने पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है, त्रिपुरा में एनडीआरएफ की दो टीमें तैनात की गई हैं. असम में भी एनडीआरएफ की दो टीमें तैनात की गई हैं. खराब मौसम के कारण छात्रों को किसी भी अप्रिय घटना से राहत दिलाने के लिए मेघालय के सभी जिलों ने आज स्कूल बंद रखने की घोषणा की है.

रेमल इस साल के मानसूनी मौसम से पहले बंगाल की खाड़ी में बना पहला चक्रवातीय तूफान है. आमतौर पर मानसून का मौसम जून से सितंबर तक रहता है. हिंद महासागर क्षेत्र में चक्रवातों का नामकरण करने वाली प्रणाली विश्व मौसम विज्ञान संगठन ( डब्ल्यूएमओ) के अनुसार, ओमान ने इस चक्रवात का नाम 'रेमल' (अरबी में रेत) नाम दिया है.

बंगाल में 6 लोगों की मौत, कई हजार घर क्षतिग्रस्त

पश्चिम बंगाल में रेमल से 24 प्रखंड और 79 नगरपालिका वार्ड में करीब 29,500 घर आंशिक या पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं, जिनमें से अधिकतर दक्षिणी तटीय इलाकों में हैं. राज्य के विभिन्न हिस्सों में दो हजार से अधिक पेड़ उखड़ गए और लगभग 1500 से ज्यादा बिजली के खंभे गिर गए. शुरुआती आकलन से संकेत मिला है कि 27,000 घर आंशिक रूप से और 2,500 पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं. 

Latest and Breaking News on NDTV

बांग्लादेश में भी रेमल से भारी नुकसान

चक्रवाती तूफान रेमल के बांग्लादेश के तटीय इलाकों में पहुंचने के बाद कम से कम 10 लोगों की मौत हुई और लाखों लोगों को बिना बिजली के रहने के लिए मजबूर होना पड़ा. रेमल के तट से टकराने पर 120 किलोमीटर (किमी) प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलीं और सैकड़ों गांवों में पानी भर गया. मौसम विभाग ने बताया कि 'रेमल' सोमवार की सुबह थोड़ा कमजोर हुआ और हवा की गति 80 से 90 किलोमीटर प्रति घंटे दर्ज की गयी. चक्रवाती तूफान रविवार रात को तट से टकराया था.

(भाषा इनपुट्स के साथ)

ये भी पढ़ें : चक्रवात 'रेमल' का असर कब तक? मौसम विभाग ने क्यों दी बिहार को 5 दिन सावधान रहने की सलाह

ये भी पढ़ें : 10 राज्यों में क्यों बदला आग बरसाते आसमान का मिजाज? जानें क्या है 'रेमल' कनेक्शन

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
मुंबई के अटल सेतु में दिखी दरार, 6 महीने पहले 18 हजार करोड़ में हुआ था तैयार
तूफान रेमल के असर से पूर्वोत्तर में भारी बारिश, पेड़ उखड़ें; हवाई और ट्रेन यातायात भी प्रभावित
"पेपर लीक का एपिसेंटर बन चुके हैं BJP शासित राज्य" : NEET परीक्षा में गड़बड़ी मामले पर राहुल गांधी
Next Article
"पेपर लीक का एपिसेंटर बन चुके हैं BJP शासित राज्य" : NEET परीक्षा में गड़बड़ी मामले पर राहुल गांधी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;