"अंतरात्मा ने मंजूरी नहीं दी...", पार्टी कार्यकर्ता की हत्या के बाद जारी हंगामे के बीच CM बोम्मई ने रद्द किए कार्यक्रम

मुख्यमंत्री ने कहा, " मैं उन लोगों से माफी मांगता हूं जो गुरुवार को कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए उत्सुक थे, साथ ही पार्टी के नेताओं, मंत्रियों और कार्यकर्ताओं से जिन्होंने इसे आयोजित करने के लिए काम किया था."

बेंगलुरु:

भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के एक नेता की बुधवार को दक्षिण कन्नड़ जिले में हत्या के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसावराज बोम्मई ने गुरुवार को सराकर के एक साल पूरा होने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है.  बुधवार की देर रात आनन-फानन बुलाए गए प्रेस कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री ने विधान सौधा में एक आधिकारिक कार्यक्रम को रद्द करने और डोड्डाबल्लापुर में एक मेगा रैली 'जनोत्सव' को रद्द करने की घोषणा की, जिसमें बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा शामिल होने वाले थे. 

मुख्यमंत्री ने यह भी ऐलान किया कि सरकार ने राष्ट्र विरोधी और आतंकवादी ताकतों को खत्म करने के लिए राज्य में एक विशेष रूप से प्रशिक्षित कमांडो फोर्स बनाने का फैसला किया है. इस संबंध में अतिरिक्त जानकारी अधिकारियों से बातचीत के बाद किया जाएगा. बोम्मई ने कहा, " इस हत्या के बाद हमारे दिलों में गुस्सा है. शिवमोग्गा में हर्ष (बजरंग दल के कार्यकर्ताओं) की हत्या के कुछ महीनों के भीतर की इस घटना ने मुझे तकलीफ दी है. 

मुख्यमंत्री ने कहा, " मेरी सरकार ने एक साल पूरा किया और बी एस येदियुरप्पा के सत्ता में आने के बाद बीजेपी के शासन के तीन साल हो गए हैं. इस अवसर पर हमने जनोत्सव की योजना बनाई थी. लेकिन पीड़िता की मां और परिवार के दर्द को देखते हुए, मैंने कल के कार्यक्रमों को रद्द करने का फैसला किया है." हालांकि, हम गरीबों, पिछड़े समुदायों और युवाओं के लिए कार्यक्रमों के संबंध में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे.

उन्होंने कहा, " मैं उन लोगों से माफी मांगता हूं जो गुरुवार को कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए उत्सुक थे, साथ ही पार्टी के नेताओं, मंत्रियों और कार्यकर्ताओं से जिन्होंने इसे आयोजित करने के लिए काम किया था. हमें इसे रद्द करना पड़ा क्योंकि मेरी अंतरात्मा ने इसकी मंजूरी नहीं दी." इस संबंभ में जेपी नड्डा को भी अवगत करा दिया गया है.

गौरतलब है कि मंगलवार रात को जिला भाजपा युवा मोर्चा समिति के सदस्य प्रवीन नेत्तारू की बेल्लारे में उसकी दुकान के सामने मोटरसाइकिल सवार तीन अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी थी. पुलिस ने बताया कि दक्षिण कन्नड़ जिले के बेल्लारे का रहने वाला नेत्तारू मंगलवार देर शाम को अपनी दुकान बंद करने के बाद घर जा रहा था, तभी अज्ञात हमलावरों ने उस पर हमला कर दिया. उसने बचकर भागने की कोशिश की लेकिन सिर पर वार किए जाने के कारण वह जमीन पर गिर गया.

स्थानीय निवासियों ने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और खून से लथपथ नेत्तारू को अस्पताल लेकर गयी, जहां चिकित्सकों ने बताया कि अस्पताल लाने से पहले ही उसकी मौत हो गयी है. इस घटना से आक्रोशित बीजेपी और संघ परिवार के समर्थकों तथा कार्यकर्ताओं ने सरकार पर अपना गुस्सा निकाला और आरोप लगाया कि वह हिंदू कार्यकर्ताओं के जीवन की रक्षा के लिए कुछ नहीं कर रही है. 

इस पर मुख्यमंत्री बोम्मई ने आश्वासन दिया कि दोषियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा और उन्हें कड़ी सजा दी जाएगी और कहा कि ‘‘इसमें कोई संदेह नहीं है.'' पुलिस ने बेल्लारे थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया है और विभिन्न पहलुओं से जांच करने तथा दोषियों को पकड़ने के लिए चार दलों का गठन किया है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस थाने में कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें - 
-- स्वतंत्र देव सिंह ने यूपी के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष से इस्तीफा दिया : सूत्र
-- बिहार के न्यायाधीश ने अपने निलंबन को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)