"पिक्चर अभी बाकी है....", पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के सहयोगी के घर ED की छापेमारी पर BJP ने साधा निशाना

कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए बंगाल बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुवेंदू अधिकारी ने कहा कि ये तो ट्रेलर है, पिक्चर अभी बाकी है. उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कर पूरे मामले में सीएम ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को घेरा है. 

बीजेपी नेता ने कई ट्वीट कर पूरे मामले में सीएम ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को घेरा है. 

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल के शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में कार्रवाई करते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को ममता कैबिनेट के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के करीबी के घर से करीब 20 करोड़ रुपये नकद जब्त किए. पूर्व मंत्री के करीबी के घर से इतनी बड़ी राशि के जब्त होने के बीजेपी हमलावर हो गई है. कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए बंगाल बीजेपी के वरिष्ठ नेता शुभेन्दु अधिकारी ने कहा कि ये तो ट्रेलर है, पिक्चर अभी बाकी है. उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कर पूरे मामले में सीएम ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को घेरा है. 

बीजेपी नेता द्वारा किए गए ट्वीट में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ अर्पिता मुखर्जी (जिनके घर छापेमारी हुई) की कई तस्वीरें थीं. राज्य में विपक्ष के नेता ने एक तस्वीर को कैप्शन दिया, "गिल्टी बाय एसोसिएशन". बता दें कि इस फ्रेज का इस्तेमाल एक कानूनी घटना का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है जब कोई व्यक्ति किसी और को जानने वाले के माध्यम से अपराध करने का दोषी होता है."

बता दें कि शुभेन्दु अधिकारी ने कल भी पार्टी पर निशाना साधा था. उन्होंने ट्वीट कर कहा था, " SSC घोटाला मामले में ईडी ने 20 करोड़ रुपये नकद अर्पिता मुखर्जी के आवास से बरामद किया है. जो पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी है. सूत्रों का दावा है कि पश्चिम बंगाल सरकार के शिक्षा मंत्रालय के लिफाफों के अंदर नकदी के ढेर मिले हैं. उन पर पार्टी का राष्ट्रीय चिन्ह छपा हुआ है." 

बता दें कि  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को कहा कि उसने कथित शिक्षक भर्ती घोटाले के संबंध में पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी की एक ‘‘करीबी सहयोगी'' अर्पिता मुखर्जी के परिसरों पर छापेमारी में 20 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की है. ईडी ने पश्चिम बंगाल के उद्योग और वाणिज्य मंत्री चटर्जी, उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी, शिक्षा राज्य मंत्री परेश सी अधिकारी, विधायक और पश्चिम बंगाल प्राथमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष माणिक भट्टाचार्य और कई अन्य लोगों के परिसरों में समन्वित तलाशी शुरू की.

ईडी ने एक बयान में कहा, ‘‘तलाशी के दौरान, ईडी ने पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के आवासीय परिसर से लगभग 20 करोड़ रुपये की नकदी बरामद की.'' ईडी ने एक बयान में आरोप लगाया, ‘‘ इस धन के स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) घोटाले से जुड़े होने का संदेह है.'' नोट गिनने वाली मशीन के माध्यम से नकदी की गिनती के लिए जांच टीम बैंक अधिकारियों की मदद ले रही है.

बयान में कहा गया है कि जब्त की गई नकदी को मशीन से गिनने के लिए तलाशी दल बैंक अधिकारियों की मदद ले रहा है. ईडी ने कहा, अर्पिता मुखर्जी के परिसर से 20 से अधिक मोबाइल फोन भी जब्त किए गए हैं, जिसके उद्देश्य और उपयोग का पता लगाया जा रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें -
-- सम्मेलन के दौरान केंद्रीय मंत्री मुरलीधरन और विपक्षी नेताओं के बीच हुई तकरार
-- Photos : पीएम मोदी ने निवर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के लिए रात्रिभोज की मेजबानी की