"शाहजहां शेख को ED को क्यों नहीं सौंपा": बीजेपी का आरोप-कानूनी सुरक्षा देने के लिए हुई गिरफ्तारी

टीएमसी नेता शाहजहां शेख (shahjahan sheikh Arrest) पिछले 55 दिनों से फरार चल रहा था, उसे आज  पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना से गिरफ्तार कर लिया गया. उस पर संदेशखाली की महिलाओं ने गंभीर आरोप लगाए हैं.

नई दिल्ली:

संदेशखाली का ताकतवर नेता शेख शाहजहां लंबी फरारी के बाद आखिरकार आज तड़के गिरफ्तार (shahjahan Shekh Arrest) हो गया, जिसके बाद उसे अदालत में पेश किया गया. शाहजहां की गिरफ्तारी के बाद बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि 56 दिन तक ग़ायब रहने के बाद शहजहां शेख़ की गिरफ़्तारी हो गई, लेकिन उस पर महिलाओं के आरोपों के मुताबिक रेप की धारा नहीं लगाई गई है. उन्होंने साल किया कि अगर उसकी गिरफ्तारी ईडी के विषय पर की गई है तो पश्चिम बंगाल सरकार उनको ईडी को क्यों नहीं सौंप रही है. बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि ईडी और सीबीआई शाहजहां को गिरफ्तार न कर सके, इसके लिए तथाकथित गिरफ़्तारी की गई है. 

ये भी पढ़ें-शाहजहां आगे और पुलिस पीछे, सफेद शर्ट-पैंट में दिखा बेखौफ; ED ने पूछा सवाल

"शहजहां शेख़ का जलवा देखिए"

वहीं कोर्ट में पेशी के दौरान शाहजहां की बॉडीलैंग्वेज पर साल उठाते हुए सुभांशु त्रिवेदी ने कहा कि किस स्टाइल से वह चल रहा है. शहजहां शेख़ का जलवा देखिए,  गिरफ्तारी के बाद भी  शाहजहां शेख पुलिस के आगे चल रहा था. उन्होंने कहा कि संदेशखाली का संदेश साफ़ है कि पुलिस द्वारा उसकी गिरफ्तारी उसे लीगल प्रोटेक्शन देने के लिए किया गया है. उन्होंने सवाल किया कि शहजहां शेख़ के विकेटकीपर प्वाइंट का क्या मतलब है. 

गिरफ्तारी के बाद निडर दिखा शाहजहां शेख

गिरफ्तारी के बाद अदालत जाते समय दबंग अंदाज में वह आगे-आगे चल रहा था और पुलिसकर्मी उसके पीछे चल रहे थे. अदालत में दाखिल होते समय वह बहुत ही निडर नजर आ रहा था. उसके माथे पर एक शिकन तक नहीं दिख रही थी. मीडिया कर्मियों ने जब उससे सवाल पूछने की कोशिश की तो उसने अपनी उंगलियां हिला दीं. शाहजहां शेख बहुत ही बेखौफ नजर आ रहा था.

फरारी के 55 दिन बाद हुई शाहजहां की गिरफ्तारी

बता दें कि टीएमसी नेता शाहजहां शेख पिछले 55 दिनों से फरार चल रहा था, उसे आज  पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना से गिरफ्तार कर लिया गया. उस पर संदेशखाली की महिलाओं ने गंभीर आरोप लगाए हैं. तृणमूल के कद्दावर नेता शाहजहां और उसके सहयोगियों पर जमीन हड़पने, जबरन वसूली और धमकी देने समते यौन उत्पीड़न के भी आरोप लगे हैं. शाहजहां को गिरफ्तार करने वाली बंगाल पुलिस ने कहा कि कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश ने उनके हाथ बांध दिए हैं, वहीं अदालत ने बाद में स्पष्ट किया कि उसने राज्य पुलिस या ईडी या सीबीआई को उसे गिरफ्तार करने से नहीं रोका. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें-1993 सीरियल ब्लास्ट का आरोपी 'Dr Bomb'अब्दुल करीम टुंडा कोर्ट से बरी