आर्यन खान केस के सबक : साख पर लगे 'दाग' के बाद क्‍या काम का तरीका बदलेगी NCB!

एनसीबी की तरफ से भी मंगलवार को कहा गया कि जांच एजेंसी के चरित्र में बदलाव पर काम किया जा रहा है.

NCB की स्पेशल विजलेंस टीम ने अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) ड्रग्स केस में अपनी रिपोर्ट दे दी है. जांच में पाया गया है कि केस में काफी अनियमितता बरती गई थी. जांच में शामिल अधिकारियों के इंटेशन पर भी सवाल उठाए गए हैं. इस मामले में 65 लोगों के बयान दर्ज किए गए है. कुछ लोगों ने 3 से 4 बार अपना बयान बदला था. इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद एनसीबी पर सवाल उठने लगे हैं. एनसीबी की तरफ से भी मंगलवार को कहा गया कि जांच एजेंसी के चरित्र में बदलाव पर काम किया जा रहा है.एजेंसी की तरफ से कहा गया कि अब बड़े माफिया और नेटवर्क को पकड़ने पर ही ध्यान दिया जाएगा.

एनसीबी के अधिकारी भी इस बात को मान रहे हैं कि इस केस के बाद एजेंसी की साख को धक्का लगा है. जांच में कुछ लोगों के खिलाफ सिलेक्टिव होने की बात भी सामने आई है. इस मामले में 7 से 8 NCB अधिकारियों की भूमिका संदेहास्पद है, जिसकी विभागीय जांच की शुरुआत की गई है. जो लोग एनसीबी के बाहर है उनके खिलाफ करवाई करने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों से इजाजत मांगी गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज जहाज पर मादक पदार्थ मिलने के मामले में एनसीबी की तरफ से दायर चार्जशीट में ही क्लीन चिट दे दी गयी थी.आर्यन खान को पिछले साल दो अक्टूबर को क्रूज पर छापेमारी के दौरान पकड़ा गया था और 22 दिन जेल में बिताने के बाद उन्हें जमानत मिली थी.