केरल में बंदरगाह का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने थाने पर हमला किया, 29 पुलिसकर्मी घायल

भीड़ ने लाठियों और पत्थरों से पुलिस स्टेशन को निशाना बनाया, 26 नवंबर को हिंसक विरोध प्रदर्शन में एक व्यक्ति की गिरफ्तारी और कुछ अन्य को हिरासत में लिए जाने पर पुलिस पर हमला किया गया

केरल में बंदरगाह का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने थाने पर हमला किया, 29 पुलिसकर्मी घायल

प्रतीकात्मक तस्वीर

तिरुवनंतपुरम:

केरल में अडानी बंदरगाह के निर्माण के विरोध में लेटिन कैथोलिक चर्च की अगुवाई में प्रदर्शनकारियों ने रविवार को विझिंजम थाने पर हमला कर दिया. इस हमले में कम से कम 29 पुलिसकर्मी जख्मी हुए. पुलिस की कई गाड़ियों को क्षतिग्रस्त किया गया है.

पुलिस के मुताबिक, भीड़ ने थाने को लाठी और पत्थरों से निशाना बनाया और पुलिस अधिकारियों पर हमला किया. दरअसल, 26 नवंबर को हुए हिंसक प्रदर्शन के मामले में पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया था और कई को हिरासत में लिया था.

पुलिस की विशेष शाखा के एक अधिकारी ने बताया, “कम से कम 29 पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं और उन्हें अलग अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.”  क्षेत्र में व्याप्त संवेदनशील स्थिति को देखते हुए, केरल सरकार ने अन्य जिलों से अधिक पुलिस अधिकारियों को तैनात किया है.

प्रदर्शनकारियों ने स्थानीय चैनल ‘एसीवी' के कैमरामैन शेरिफ एम जॉन पर हमला किया और उनका कैमरा क्षतिग्रस्त कर दिया तथा उनका मोबाइल छीन लिया. उन्हें तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इस बीच, जिला प्रशासन ने चर्च के अधिकारियों के साथ शांति वार्ता शुरू की है और इसके प्रतिनिधि फादर ई. परेरा ने कहा कि चर्च शांति बनाए रखना चाहता है. उन्होंने मीडिया से कहा, ‘‘हम प्रदर्शनकारियों से बात करेंगे. मैं शांतिपूर्ण तरीके से मामले को सुलझाने के लिए यहां आया हूं.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इससे पहले दिन में, राज्य पुलिस ने शनिवार को विझिंजम में हुई हिंसा को लेकर शहर के आर्कबिशप थॉमस जे नेटो और परेरा सहित लातिन कैथोलिक के कम से कम 15 पादरियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी.

Featured Video Of The Day

ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री को पुलिसकर्मी ने गोली मारी