इंदौर में 8335 लोगों ने मिलकर बनाया भारत का नक्शा, वर्ल्ड बुक्स ऑफ रिकॉर्ड यूके में कीर्तिमान दर्ज

शहर में हरियाली बढ़ाने के लिए फलों में पौधों के बीजों से भरे हजारों गुब्बारे उड़ाए गए. यह सीड बॉल्स की तरह काम करेंगे और गुब्बारे जहां भी फूटेंगे, वहां पौधे उगने की संभावना होगी.

इंदौर में 8335 लोगों ने मिलकर बनाया भारत का नक्शा, वर्ल्ड बुक्स ऑफ रिकॉर्ड यूके में कीर्तिमान दर्ज

लोगों ने भारत का नक्शा बनाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया.

इंदौर (मध्य प्रदेश):

देश आजादी के 75 साल पूरा होने पर अमृत महोत्सव मना रहा है. इस मौके पर देशभर में कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. मध्यप्रदेश के इंदौर में 8335 लोगों ने मिलकर भारत का नक्शा बनाया और नया वर्ल्ड रिकॉर्ड रच दिया. जो वर्ल्ड बुक्स ऑफ रिकॉर्ड यूके में दर्ज हुआ. इंदौर देश के सबसे स्वच्छ शहर में पहले नंबर पर है. आर्मी के जवानों के साथ ही कई सामाजिक संगठनों के सदस्यों और सफाईकर्मियों ने मिलकर ये रिकॉर्ड बनाया.

इंदौर के दिव्य शक्तिपीठ पर सुबह 8 बजे से लोगों का जमावड़ा शुरू हो गया था. सफेद कपड़े पहनकर सिर पर तिरंगे के केसरिया, सफेद, हरी और नीली रंग की टोपी लगाकर लोग जमीन पर बने भारत के नक़्शे पर अपने-अपने स्थान पर खड़े होने लगे थे. देश के सबसे स्वच्छ शहर में जब मानव श्रृंखला के जरिए भारत का नक्शा बनाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का प्रयास हो रहा हो, तो उसका आधार हमारे अपने सफाईकर्मी ही बन सकते हैं. इसलिए इस नक़्शे की रूपरेखा (बॉउंड्री) शहर के सफाईकर्मियों ने बनाई.

पिछले वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए जरूरत थी तीन हजार लोगों के साथ मिलकर नक्शा बनाने की पर जोश इतना था कि इस खास आयोजन के लिए शहर के विभिन्न सामाजिक और शैक्षणिक संस्थाएं, एनजीओ और इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के साथ ही आर्मी के जवान और ऑफिसर्स को मिलाकर दिव्य शक्तिपीठ पर 8335 लोग जमा हो गए. आयोजन स्थल पर लाइव बैंड देशभक्ति के जोश से भरे तराने गा रहा था और इस जोशीले माहौल के बीच ही वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया गया. आज़ादी के अमृत महोत्सव को शहर के लिए यादगार बनाने और लोगों को तिरंगे का महत्व समझाने के लिए ज्वाला महिला समिति द्वारा किए गए इस प्रयास को वर्ल्ड बुक्स ऑफ़ रिकॉर्ड यूके में दर्ज किया गया.

इस मौके पर ज्वाला की संस्थापक डॉ दिव्या गुप्ता ने सांसद शंकर लालवानी, राज्य सभा सांसद कविता पाटीदार, बीजेपी के नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे के साथ आर्मी के ऑफिसर ले. जनरल अनंतनारायण ने झंडावंदन किया और वहां मौजूद हजारों लोगों ने राष्ट्रगान गाया. आयोजन में रवि अतरोलिया ने झंडा संहिता के बारे में जानकारी दी. इस अवसर पर ओरिएंटल, वैष्णव इंस्टिट्यूट, सिम्बायोसिस और प्रज्ञा नर्सिंग कॉलेज से भी प्रतिभागी शामिल हुए. साथ ही मध्यप्रदेश एनजीओ महासंघ के 60 संगठन मौजूद थे. फिक्की फ्लो इंदौर चैप्टर और आईएनएमओ मॉम्स ग्रुप की सदस्यों ने भी वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने में सहभागिता निभाई. सभी प्रतिभागियों को डिजिटल सर्टिफिकेट दिए गए.

वर्ल्ड बुक्स ऑफ रिकॉर्ड यूके के प्रतिनिधि विक्रम त्रिवेदी ने बताया कि इतने लोगों को किसी एक खास मकसद के लिए एक मंच पर इकट्ठा करना अपने आप में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने से ज्यादा बड़ी उपलब्धि है. सांसद लालवानी ने कहा कि जब हम स्वच्छता के मामले में लगातार नंबर वन बने रह सकते हैं तो इस तरह का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाना तो हमारे लिए गर्व की बात है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शहर में हरियाली बढ़ाने के लिए बीजों से भरे गुब्बारे उड़ाए
ज्वाला की संस्थापक डॉ दिव्या गुप्ता ने बताया कि शहर में हरियाली बढ़ाने के लिए हमने इस मौके पर फलों में पौधों के बीजों से भरे हजारों गुब्बारे उड़ाए हैं. यह सीड बॉल्स की तरह काम करेंगे और गुब्बारे जहां भी फूटेंगे, वहां पौधे उगने की संभावना होगी. इस आयोजन का मकसद लोगों में देशभक्ति और अपने तिरंगे के प्रति सम्मान की भावना जगाना था. इस मौके पर समाज में सभी को समान अधिकार देने के उद्देश्य से नेत्रहीन और दिव्यांग बच्चों को भी विशेष रूप से कार्यक्रम में शामिल किया गया था.