यूपी की कानून व्‍यस्‍था को बेहतर बनाया, इसी कारण चार साल में नहीं हुआ एक भी दंगा: योगी आदित्‍यनाथ

सीएम ने कहा कि राज्य में पुलिस रिफार्म हमने किए. लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू किया. पूर्व की सरकारों ने यह नहीं किया था. पुलिसकर्मियों के लिए आवास बनवाये.

यूपी की कानून व्‍यस्‍था को बेहतर बनाया, इसी कारण चार साल में नहीं हुआ एक भी दंगा: योगी आदित्‍यनाथ

खास बातें

  • यूपी सरकार की चौथी सालगिरह पर बोले मुख्‍यमंत्री
  • कहा, चार वर्ष में सूबे में सभी पर्व शांति के साथ मनाए गए
  • पुलिस रिफॉर्म किया, अपराधियों के खिलाफ की सख्‍त कार्रवाई

उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) की चौथी सालगिरह के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ((Yogi Aditya Nath) ने सूबे की कानून व्यवस्था को बेहतर करने के लिए उठाए गए कदमों का विस्तार से उल्लेख किया. उन्‍होंने यह भी बताया कि सूबे की कानून व्यवस्था को बेहतर करने के लिए उनकी सरकार के फैसलों से यूपी आज देश एवं विदेश के निवेशकों का सबसे अच्छा गंतव्‍य बन गया है. मुख्यमंत्री ने यह दावा भी किया कि बीते चार वर्षों के दौरान यूपी में सभी पर्व और त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुए. कहीं कोई दंगा नहीं हुआ जबकि पूर्व की सरकारों में ऐसा नहीं होता था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में किए गए पुलिस रिफॉर्म और अपराधियों के खिलाफ लिए गए एक्शन कोबीते चार वर्षों में यूपी में कोई दंगा न होने की वजह बताया.

समाजवादी पार्टी की ओर से पेश किए गए बजट दिशाहीन थे : योगी आदित्‍यनाथ

मुख्यमंत्री ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि राज्य में पुलिस रिफार्म हमने किए. लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू किया. पूर्व की सरकारों ने यह नहीं किया था. पुलिसकर्मियों के लिए आवास बनवाये. ई- प्रसिक्यूशन प्रणाली लागू की, ऐसा करने वाला यूपी पहला राज्य है. अपराधियों के खिलाफ लिए गए एक्शन को लेकर सीएम ने कहा कि गैंगस्टर अधिनियम के अंतर्गत 12,032 अभियोग पंजीकृत हुए और 37,511 अभियुक्त गिरफ्तार हुए. अपराधियों की लगभग 1,000 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई और ध्वस्तीकरण का कार्य भी संपन्न हुआ. 

उत्तर प्रदेश बहुत जल्द ही संक्रामक रोगों से मुक्त होगा : वाराणसी दौरे में बोले योगी आदित्‍यनाथ

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुख्यमंत्री ने  बताया कि वर्ष 2016-17 की तुलना में वर्ष 2019 में डकैती की घटनाओं में 65.72 प्रतिशत, लूट के मामलों में 66.15 प्रतिशत, हत्या के मामलों में 19.80 प्रतिशत, बलवा के मामलों में 40.20 प्रतिशत और बलात्कार की घटनाओं में 45.43 प्रतिशत की कमी आई है. सरकार द्वारा महिला सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन के लिए चलाए जा रहे मिशन शक्ति अभियान का जिक्र भी मुख्यमंत्री ने किया. इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि विगत चार वर्षों में प्रदेश में 59 नए थाने, 29 नई चौकियां, 4 नए महिला थाने, आर्थिक अपराध के 4 थाने, विजलेंस के 10 थाने, साइबर क्राइम के 16 थाने और अग्नि शमन के 59 थाने बनाए गए हैं.  उन्होंने यह भी बताया कि राज्य के सभी 1535 थानों में महिला हेल्प डेस्क भी स्थापना की गई है. इसके अलावा 18 पुलिस परिक्षेत्रीय कार्यालयों में महिला साइबर क्रीम सेल तथा 18 परिक्षेत्र के जनपदों में थाने के समकक्ष एक-एक महिला पुलिस चौकी परामर्श केन्द्रों के स्थापना की गई है.