उत्तर प्रदेश बहुत जल्द ही संक्रामक रोगों से मुक्त होगा : वाराणसी दौरे में बोले योगी आदित्‍यनाथ

यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने रविवार को वाराणसी के चोलापुर सीएचसी में 'मुख्‍यमंत्री आरोग्‍य मेला' का जाजया लिया और संक्रामक रोग नियंत्रण अभियान को हरी झंडी दिखाई.

उत्तर प्रदेश बहुत जल्द ही संक्रामक रोगों से मुक्त होगा : वाराणसी दौरे में बोले योगी आदित्‍यनाथ

UP CM Yogi Adityanath ने वाराणसी के चोलापुर में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का दौरा किया (फाइल)

लखनऊ:

यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि राज्य जल्द ही संक्रामक रोगों से मुक्त होगा. मुख्यमंत्री ने रविवार को वाराणसी के चोलापुर सीएचसी में 'मुख्‍यमंत्री आरोग्‍य मेला' का जाजया लिया और संक्रामक रोग नियंत्रण अभियान को हरी झंडी दिखाई.

उत्तर प्रदेश में संक्रामक रोग नियंत्रण अभियान एक मार्च से 31 मार्च तक चलेगा. मुख्‍यमंत्री ने संक्रामक रोगों से बचाव के प्रति जागरूकता और गांवों में स्वास्थ्य सेवा के लिए मोबाइल चिकित्सा वाहनों, फॉगिंग मशीन वाहनों और एंटी लार्वा स्प्रे टीमों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. सीएचसी चोलापुर के जनरल वॉर्ड में जाकर मुख्‍यमंत्री ने मरीजों से हालचाल पूछा. संक्रामक रोग नियंत्रण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले इन बीमारियों से हर साल हजारों लोग संक्रमित होते थे और सैकड़ों मौतें होती थी लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया.


संक्रामक रोग नियंत्रण विशेष अभियान है. अभी से तैयारी होगी तो आगे गर्मी-बरसात में तमाम बीमारियों से बचा जा सकता है. सरकार ने वर्ष 2020 में सुनिश्चित किया था कि प्रत्येक रविवार को हर प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में आरोग्य मेलों का आयोजन किया जाएगा. मुख्यमंत्री आरोग्य योजना के जरिये आरोग्यता के लिए उस समय एक विशेष अभियान को आगे बढ़ाने का फैसला किया गया था. मुख्यमंत्री ने कहा कि उस समय मात्र 6-7 आरोग्य मेले ही सम्पन्न हो पाए थे. इसके माध्यम से 30 लाख से अधिक लोगों ने बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त कीं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सरकार को कोरोना के कारण कार्यक्रम टालना पड़ा.लगभग 10 महीनों तक कोरोना के साथ जूझने के बाद देश और उत्तर प्रदेश ने भी कोरोना को मात दी और अंततः कोरोना आज प्रदेश में न्यूनतम स्तर पर है.उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के तहत घर-घर शौचालय उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि आरोग्य मेले में अनेक प्रकार की जांच होती हैं, आयुष्मान भारत के माध्यम से पांच लाख रुपये तक चिकित्सा लाभ प्राप्त किया जा सकता है, इसमें गोल्डन कार्ड बनवाने के साथ ही अन्य जरूरी जानकारी नागरिकों को दी जाती है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)