कोरोना में जान गंवाने वालों को याद करते समय भावुक हुए PM मोदी, कहा-वायरस ने कई प्रियजनों को छीना है

पीएम अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के डॉक्‍टरों और फ्रंटलाइन वर्कस से वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिये रूबरू हुए थे. उन्‍होंने डॉक्‍टर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को उनके सेवाभाव के लिए धन्‍यवाद दिया.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) कोरोना महामारी के कारण जान गंवाने वाले लोगों के बारे में बात करते हुए शुक्रवार को बेहद भावुक नजर आए. उन्‍होंने कहा, 'इस वायरस ने हमसे कई प्रियजनों को छीन लिया है. मैं उन्‍हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और उन परिवारों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त करता हूं जिन्‍होंने अपने परिजनों को खोया है.' यह कहते हुए पीएम की आवाज रुंध गई. पीएम अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के डॉक्‍टरों और फ्रंटलाइन वर्कस से वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिये रूबरू हुए थे. उन्‍होंने डॉक्‍टर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को उनके सेवाभाव के लिए धन्‍यवाद दिया.

BJP के संबित पात्रा के 'टूलकिट पोस्ट' को ट्विटर ने करार दिया 'Manipulated Media'

पीएम ने कहा, 'कोरोना के दूसरी लहर में हम एक ही समय में कई मोर्चो पर भी लड़ रहे हैं. संक्रमण की दर ऊंची है और मरीज लंबे समय तक अस्‍पताल में हैं.'पीएम मोदी ने कहा-अभी संतोष का समय नहीं है .हमें अभी लंबी लड़ाई लड़नी है. अभी हमें बनारस और पूर्वांचल के ग्रामीण इलाकों पर भी बहुत ध्यान देना है . अब हमारा मंत्र होगा, जहां बीमार, वहीं उपचार. जितना हम उपचार लोगों के पास ले जाएंगे हेल्थ व्यवस्था पर लोड उतना ही कम होगा. जहां बीमार वहीं उपचार इस सिद्धांत पर फोकस करें.


'ऐसे लोग ब्लैक फंगस से रहें सावधान, इंजेक्शन की कमी, बचाव ही इलाज' : दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


संबोधन में पीएम ने वैक्सीनेशन को हमें जन अभियान का हिस्सा बनाने पर जोर दिया. उन्‍होंने कहा कि दिमागी बुखार से पहले यूपी में हजारों बच्चे मरते थे. योगी जी उस समय सांसद होते थे, एक बार वे संसद में रो पड़े थे. यह सिलसिला लंबा चला. जब योगीजी मुख्यमंत्री बने और भारत सरकार और राज्य सरकार ने मिलकर दिमागी बुखार के खिलाफ बहुत बड़ा अभियान शुरू किया और काफी मात्रा में हम बच्चों की जिंदगी बचाने में सफल हुए. पीए ने ब्‍लैक फंगस को भी पिछले कुछ दिनों में सामने आई नई चुनौती बताया और कहा कि इस पर जरूरी व्यवस्था तैयार करने पर ध्यान देना जरूरी है.