UP Election: 'शरीयत से नहीं, संविधान से चलेगा हिन्दुस्तान', दूसरे चरण की वोटिंग के दिन बोले CM योगी आदित्यनाथ

UP Election: भगवा वस्त्र पहने मुख्यमंत्री ने कॉलेजों में हिजाब प्रतिबंध को लेकर कर्नाटक में  उपजे भारी विवाद पर भी बात की. उन्होंने कहा, "मेरा दृढ़ विश्वास है कि सिस्टम को भारतीय संविधान के अनुसार चलना चाहिए. हम अपनी व्यक्तिगत मान्यताओं, अपने मौलिक अधिकारों, अपनी व्यक्तिगत पसंद और नापसंद को देश या संस्थानों पर नहीं थोप सकते."

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में दूसरे चरण के मतदान के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नया भारत संविधान के अनुसार काम करेगा, न कि शरीयत कानून के अनुसार. उन्होंने यह भी कहा कि "गज़वा-ए-हिंद" का सपना कभी सच नहीं होगा. राज्य में साच चरणों में होने वाले मतदान के दूसरे चरण में आज नौ जिलें की कुल 55 सीटों पर वोटिंग हो रही है. 

इससे पहले मुख्यमंत्री ने koo किया, "'गजवा-ए-हिन्द' का सपना देखने वाले 'तालिबानी सोच' के 'मजहबी उन्मादी' यह बात गांठ बांध लें... वो रहें या न रहें भारत शरीयत के हिसाब से नहीं, संविधान के हिसाब से ही चलेगा। जय श्री राम!"

ks53aihg

योगी आदित्यनाथ ने आज ही समाचार एजेंसी ANI को दिए एक साक्षात्कार में यह भी दावा किया कि उनकी "80 बनाम 20" टिप्पणी "उन लोगों के बीच अंतर करने के लिए थी जो विकास का समर्थन करते हैं और जो लोग हर चीज का विरोध करते .हैं"

दूसरों ने 'कम्युनल गीत पर सेक्युलर संगीत' की धुन पर वोट लूटे: मुख्तार अब्बास नकवी

योगी आदित्यनाथ ने समाचार एजेंसी से कहा, "मैं पूरी स्पष्टता के साथ कह सकता हूं कि यह नया भारत है, यह दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का भारत है. इस नए भारत में विकास सभी का होगा और किसी एक का तुष्टिकरण नहीं होगा." 

उन्होंने कहा, "नया भारत शरीयत नहीं संविधान के अनुसार काम करेगा. मैं यह भी स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूं कि गजवा-ए-हिंद का सपना कयामत (दुनिया के अंत) तक भी पूरा नहीं होगा." .

भगवा वस्त्र पहने मुख्यमंत्री ने कॉलेजों में हिजाब प्रतिबंध को लेकर कर्नाटक में  उपजे भारी विवाद पर भी बात की. उन्होंने कहा, "मेरा दृढ़ विश्वास है कि सिस्टम को भारतीय संविधान के अनुसार चलना चाहिए. हम अपनी व्यक्तिगत मान्यताओं, अपने मौलिक अधिकारों, अपनी व्यक्तिगत पसंद और नापसंद को देश या संस्थानों पर नहीं थोप सकते."

UP विधानसभा चुनाव 2022: दूसरे चरण में 9 जिलों की 55 सीटों पर वोटिंग, इन दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव पर

उन्होंने कहा, "क्या मैं यूपी के लोगों और कार्यकर्ताओं को भगवा पहनने के लिए कह रहा हूं? वे जो पहनना चाहते हैं वह उनकी पसंद है लेकिन स्कूलों में एक ड्रेस कोड होना चाहिए. यह स्कूल और स्कूलों में अनुशासन का मामला है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि किसी की व्यक्तिगत मान्यता अलग है, "लेकिन जब कोई संस्थानों की बात करता है, तो उसे वहां के नियमों को स्वीकार करना पड़ता है", एक राष्ट्रीय संदर्भ में, उन्होंने कहा, संविधान का पालन किया जाना चाहिए."