ट्विटर ने सरकार से कहा, डिजिटल नियमों के अनुपालन का हरसंभव प्रयास कर रहे, एक हफ्ते में देंगे प्रगति का ब्योरा

पिछले आरएसएस नेताओं और उप राष्ट्रपति वेंकैया नायूड के ट्विटर अकाउंट से ब्लू टैग हटाने को लेकर विवाद के बीच सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ट्विटर को अल्टीमेटम दिया था कि वो  डिजिटल नियमों का पालन सुनिश्चित करे अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहे.

ट्विटर ने सरकार से कहा, डिजिटल नियमों के अनुपालन का हरसंभव प्रयास कर रहे, एक हफ्ते में देंगे प्रगति का ब्योरा

Twitter विवाद के बीच डिजिटल कंपनियों के रूल्स (Digital Rules 2021) लागू कर दिए गए हैं

Twitter Government Row : डिजिटल रूल्स 2021 (Digital Rules 2021)का पालन करने में टालमटोल कर रही सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर का रुख अब कुछ नरम पड़ता नजर आ रहा है. ट्विटर ने सरकार को भेजे एक संदेश में कहा है कि वो डिजिटल नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव कदम उठा रही है.उसने यह भी कहा है कि नए डिजिटल नियमों के अनुपालन को लेकर हुई प्रगति का ब्योरा वो एक हफ्ते में सरकार को सौंपेगी. दरअसल, पिछले आरएसएस (RSS) नेताओं और उप राष्ट्रपति वेंकैया नायूड के ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक(Blue Tag) हटाने को लेकर विवाद के बीच सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने(IT Ministry)  ट्विटर को अल्टीमेटम दिया था कि वो  डिजिटल नियमों (Digital Guidelines 2021) का पालन सुनिश्चित करे अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहे.

ट्विटर विवाद : सोशल मीडिया कंपनियां कानूनी दायित्वों से क्यों हिचक रहीं, क्या उनकी आजादी अहम, जानिए साइबर विशेषज्ञ की राय

फेसबुक, गूगल समेत तमाम अन्य कंपनियों ने पहले ही डिजिटल रूल्स के मुताबिक, शिकायत अधिकारी नियुक्त करने जैसे कई कदम उठाए हैं. लेकिन ट्विटर और सरकार का टकराव कम होते नहीं दिख रहा था.ट्विटर के प्रवक्ता ने कहा, उनकी कंपनी भारत में अपनी सेवाओं को लेकर प्रतिब्ध है और वह महत्वपूर्ण जन संवाद मंच के तौर पर अपनी जिम्मेदारी निभा रही है. सरकार को गाइडलाइन के सभी नियमों का अनुपालन करने का भरोसा दिया गया है. अब तक की हुई प्रगति का विवरण सरकार से साझा कर दिया गया है. हम भारत सरकार के साथ रचनात्मक संवाद जारी रखेंगे.कंपनी ने कहा कि वह अघले कुछ दिनों में नए कदमों की जानकारी देगी, अधिकतम एक हफ्ते में यह सरकार के साथ साझा की जाएगी.


गौरतलब है कि पिछले एक डेढ़ साल में भारत सरकार और ट्विटर के बीच कई मुद्दों पर तीखे मतभेद उभर कर सामने आए हैं. किसान आंदोलन के समय ट्विटर टूल किट के मामले ने पहले तूल पकड़ा था. फिर कांग्रेस की कथित टूलकिट को लेकर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्ववीट क मैनुपलेटड का टैग देने को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद बढ़ा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके बाद आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत समेत कई नेताओं के ट्विटर अकाउंट को वेरीफाई करने वाला ब्लू टिक हटा दिया गया. उप राष्ट्रपति वेंकैया नायूड के अकाउंट में भी ऐसा किया गया. ट्विटर ने पहले तो दलील दी कि ये अकाउंट लंबे समय से सक्रिय नहीं थे, लिहाजा यह कदम उठाया गया. लेकिन सरकार के कड़े रुख के बाद उसने ज्यादातर अकाउंट से ब्लू टिक बहाल कर दिया.