त्रिपुरा कांग्रेस अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, जल्द तृणमूल कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल : सूत्र

कुछ दिनों पहले ही महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. बिस्वास सुष्मिता देव के करीबी माने जाते हैं. सूत्रों ने बताया कि बिस्वास भी देव की तरह ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. सुष्मिता देव को राहुल और प्रियंका गांघी का करीबी समझा जाता था. उन्होंने टीएमसी ज्वाइन कर लिया है. 

त्रिपुरा कांग्रेस अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, जल्द तृणमूल कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल : सूत्र

त्रिपुरा कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष पीयूष कांति बिस्वास ने पार्टी छोड़ दी है.

अगरतला:

एक हफ्ते के अंदर कांग्रेस (Congress) को दूसरा झटका लगा है. अब त्रिपुरा (Tripura) कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष पीयूष कांति बिस्वास ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने समाचार एजेंसी ANI से कहा, "मेरे लिए इस पद से इस्तीफा देना बहुत दर्दनाक है. मुझे पार्टी की सेवा करने का मौका देने के लिए मैं सोनिया गांधी का आभारी हूं. मैं राजनीति से संन्यास ले रहा हूं और मुझे अपने पेशे में वापस जाने की खुशी है." बिस्वास पेशे से एक वकील रहे हैं.

कुछ दिनों पहले ही महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. बिस्वास सुष्मिता देव के करीबी माने जाते हैं. सूत्रों ने बताया कि बिस्वास भी देव की तरह ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. सुष्मिता देव को राहुल और प्रियंका गांघी का करीबी समझा जाता था. उन्होंने टीएमसी ज्वाइन कर लिया है. 


त्रिपुरा में ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी व अन्य TMC सांसदों के खिलाफ FIR दर्ज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


त्रिपुरा में 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं. उससे पहले, टीएमसी राज्य में अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश में लगी हैं. इन दोनों नेताों के पार्टी छोड़ने को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है. टीएमसी ने त्रिपुरा में सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का एलान किया है. पिछली बार तृणमूल कांग्रेस ने राज्य की 60 विधान सभा सीटों में से 18 सीटों पर चुनाव लड़ा था. उनके एक उम्मीदवार मधुसूदन को सबसे ज्यादा 435 वोट मिले थे. यह राज्य के कुल मत का 0.3 प्रतिशत है