मेरा प्रधानमंत्री को संदेश- ईमानदार रहें : NDTV से बोले फारूक अब्दुल्ला

फारूख अब्दुल्ला ने कहा, "यह कदम अप्रत्याशित था. मैं एक दिन पहले प्रधानमंत्री से मिला था, उन्होंने हमें ऐसा कोई संकेत नहीं दिया."

जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने शुक्रवार कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने के संबंध में कोई संकेत नहीं दिया. नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद ने हिरासत से रिहा होने के बाद अपने इंटरव्यू में कहा, "कोई भी भारत सरकार पर अब भरोसा नहीं कर सकता. एक दिन भी ऐसा नहीं है, जब वे झूठ नहीं बोलते हैं."  उन्होंने कहा कि 'यह महात्मा गांधी का भारत नहीं है.' बता दें कि पिछले साल अगस्त महीने में सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा वापस ले लिया और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभक्त कर दिया था. 

फारूख अब्दुल्ला ने कहा, "यह कदम अप्रत्याशित था. मैं एक दिन पहले प्रधानमंत्री से मिला था, उन्होंने हमें ऐसा कोई संकेत नहीं दिया. मैंने उनसे कहा था कि इतने सारे जवानों को भेजा गया है, इसकी क्या जरूरत थी? सैलानियों को जम्मू-कश्मीर से बाहर किया जा रहा था, अमरनाथ यात्रा रद्द कर दी गई थी. यह सब अजीब था... जैसे पाकिस्तान से युद्ध या फिर कुछ और." अब्दुल्ला ने कहा, "जब हमने प्रधानमंत्री से पूछा तो उन्होंने कुछ नहीं कहा लेकिन इसके अलावा अन्य चीजें कहीं.    

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता से जब यह पूछा गया कि आज वो प्रधानमंत्री से क्या कहना चाहेंगे तो उन्होंने, "मैं प्रधानमंत्री से और ईमानदार होने और वास्तव में तथ्यों का सामना करने का अनुरोध करूंगा." अब्दुल्ला ने नाराजगी जताते हुए कहा, "कोई भी भारत सरकार पर विश्वास नहीं कर सकता. यह असंभव है ... एक दिन भी ऐसा हो, जब वे झूठ नहीं बोलते हो." 

भारत सरकार की ओर यह दावा किए जाने के बाद कि अब्दुल्ला को हिरासत में नहीं लिया गया है इसको याद करते हुए एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, "यह हैरान करने वाला था. हम हमेशा देश के साथ खड़े रहे. यह कुछ ऐसा था कि जिसकी मैंने कभी उम्मीद नहीं की थी." 


जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि "उन्होंने डेंटिस्ट के यहां जाने और आंख में समस्या होने के कारण अस्पताल जाने की गुहार लगाई." उन्होंने कहा, "मेरे फोन काट दिया गया था, मेरे पास जो चीज थी वो थी सिर्फ टीवी. मैं इंग्लैंड में अपनी बेटी से बात करना चाहता था लेकिन मैं बात नहीं कर सकता था."

वीडियो: जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्रियों के रिहाई के लिए प्रार्थना करता हूं : राजनाथ सिंह

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com