शूटर का एयर इंडिया के अधिकारियों ने 'अपमान' किया, केंद्रीय मंत्री की मदद से फ्लाइट में चढ़ सकीं

भारतीय ओलंपियन और शूटर मनु भाकर ने कहा कि हवाई अड्डे पर सभी दस्तावेजों और नागरिक उड्डयन महानिदेशालय से इजाजत के बावजूद उनसे हथियार ले जाने के लिए पैसे मांगे गए

शूटर का एयर इंडिया के अधिकारियों ने 'अपमान' किया, केंद्रीय मंत्री की मदद से फ्लाइट में चढ़ सकीं

शूटर मनु भाकर ने दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से ट्विटर पर अपनी तस्वीर पोस्ट की.

नई दिल्ली:

भारतीय ओलंपियन निशानेबाज (Shooter) मनु भाकर (Manu Bhaker) को कथित तौर पर आज दिल्ली में एयर इंडिया (Air India) की फ्लाइट में चढ़ने से रोक दिया गया. ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि वे शूटिंग के प्रशिक्षण के लिए अपने साथ हथियार रखे थीं. हथियार ले जाने की इजाजत के बावजूद उनसे 10,000 रुपये मांगे गए और यह राशि न देने पर उड़ान में सवार होने से रोक दिया गया. केन्द्रीय मंत्री किरेन रिजीजू के हस्तक्षेप के बाद मनु भाकर मध्यप्रदेश के भोपाल शहर की फ्लाइट में सवार हो सकीं.

मनु भाकर ने शुक्रवार की शाम को ट्विटर पर दिल्ली एयरपोर्ट पर अपनी एक तस्वीर पोस्ट की. इसमें उन्होंने लिखा कि "मुझे IGI दिल्ली में फ्लाइट AI 437 में सवार होने की इजाजत नहीं दी जा रही है और 10,200 रुपये की मांग की जा रही है. जबकि मेरे पास सभी वैध दस्तावेज और DGP परमिट है. एयर इंडिया के प्रभारी उच्च अधिकारी मनोज गुप्ता और अन्य कर्मचारी मुझे अपमानित कर रहे हैं ... क्योंकि मेरे पास दो बंदूकें और कारतूस हैं. किरेन रिजीजू, हरदीप पुरी सर मैं प्रतीक्षा कर रही हूं? "

मनु भाकर ने कहा, "कम से कम हर बार खिलाड़ियों का अपमान न करें और कृपया पैसे न मांगें."

शूटर ने कहा कि हथियार ले जाने के लिए नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) से अनुमति लेने के बावजूद हवाई अड्डे पर उनसे पैसे मांगे गए. उन्होंने कहा कि उन्हें मध्यप्रदेश शूटिंग अकादमी में अपने प्रशिक्षण के लिए हथियारों की आवश्यकता है.

उन्होंने अपनी पोस्ट में केंद्रीय मंत्री किरेन रिजीजू और हरदीप सिंह पुरी को टैग किया, ताकि फ्लाइट में सवार होने के लिए उनकी मदद ली जा सके.

उन्होंने एयर इंडिया के अधिकारी द्वारा कथित तौर पर उन्हें "परेशान" करने का जिक्र किया. उन्होंने एक तस्वीर साझा करते हुए ट्विटर पर लिखा, "मनोज गुप्ता (एयर इंडिया के अधिकारी) और उनके सुरक्षा प्रभारी भी मेरे साथ ऐसा व्यवहार कर रहे हैं जैसे मैं एक अपराधी हूं. ऐसे लोगों को व्यवहार के बुनियादी प्रशिक्षण की जरूरत है. आशा है एविएशन मिनिस्ट्री इस ओर ध्यान देगी.." 

मनु भाकर आखिरकार कुछ समय बाद फ्लाइट में सवार हो गईं और मदद करने के लिए किरेन रिजीजू को धन्यवाद दिया. इस पर मंत्री ने जवाब दिया, "मनु भाकर आप भारत के गौरव हैं."


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मनु भाकर ने बाद में एक पोस्ट में एयर इंडिया से उसके अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि "एयर इंडिया अगर आप मनोज गुप्ता और उनकी सुरक्षा में तैनाीत व्यक्ति जैसे अपराधियों को बचाने की कोशिश करेंगे, जिसकी तस्वीर मैंने साझा की है,  तो आप एयर इंडिया की प्रतिष्ठा को और अधिक नुकसान पहुंचाएंगे. उन्होंने मेरा मोबाइल छीन लिया और जानबूझकर वह तस्वीर भी हटा दी, जो मेरी मां ने उत्पीड़न के दौरान ली थी."