जातिगत जनगणना पर तेजस्वी का सीएम नीतीश को दिए नए ऑफर का क्या मतलब है?

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जातिगत जनणना के अपने इरादे पर आगे बढ़ना चाहते हैं. ये काम राज्य के ख़र्चे पर भी कराने को वो तैयार हैं.

जातिगत जनगणना पर तेजस्वी का सीएम नीतीश को दिए नए ऑफर का क्या मतलब है?

राष्ट्रीय जनता दल ने इस मुद्दे पर सीएम नीतीश को आगे बढ़ने की सलाह दी है

पटना:

क्या बिहार के राजनीतिक समीकरण एक बार फिर बदलेंगे? ये कयास जातिगत जनगणना को लेकर नीतीश कुमार को मिले एक नए प्रस्ताव के बाद लगने शुरू हो गए हैं. दरअसल, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जातिगत जनणना के अपने इरादे पर आगे बढ़ना चाहते हैं. ये काम राज्य के ख़र्चे पर भी कराने को वो तैयार हैं. लेकिन उनकी सहयोगी बीजेपी इसके लिए हिचक रही है. इस पर सर्वदलीय बैठक में शामिल होने के सवाल पर पार्टी नेताओं को अपने आलाकमान के इशारे का इंतज़ार है. 

नीतीश कुमार को RJD का बिना शर्त समर्थन देने का ऑफर, बिहार में लगने लगी सियासी अटकलें

इस बीच राष्ट्रीय जनता दल ने इस मुद्दे पर सीएम नीतीश को आगे बढ़ने की सलाह दी है और वादा किया है कि सरकार पर संकट आया तो वह साथ देंगे. राष्ट्रीय जनता दल के बिहार अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि नीतीश जी घबराइए मत. सार्वजनिक रूप से आप कभी कभी पलट जाते हैं लेकिन हम लोग सार्वजनिक रूप से कहते हैं कि जब आप बढ़ेंगे तो आप अपने को अकेला महसूस नहीं करेंगे.

नीतीश सरकार में कोरोना विस्फोट : दोनों डिप्टी CM, दो अन्य मंत्री मिले COVID पॉज़िटिव


वहीं जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उपेन्द्र कुशवहा ने कहा कि ज्ञातजातीय जनगणना की ओर जो हमारा कदम बढ़ा है, वो कदम बढ़ता रहेगा. उधर, राजद की ओर से आए बयान पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इसके लिए उनका धन्यवाद कहते हैं. इस मुद्दे पर पहले से ही सभी राजनीतिक दलों का समर्थन हासिल है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मीडिया से क्यों खफा हैं नीतीश कुमार? मौका लगते ही बरस पड़ते हैं