तमिलनाडु में पिता-पुत्र की कस्टडी में मौत के मामले में हत्या का केस दर्ज, सब-इंस्पेक्टर गिरफ्तार

कोरोनावायरस लॉकडाउन के तहत तूतीकोरिन में अपनी मोबाइल की दुकान ज्यादा वक्त तक खुला रखने पर पुलिस ने जयराज और उनके बेटे बेनिक्स को गिरफ्तार किया था.

तमिलनाडु में पिता-पुत्र की कस्टडी में मौत के मामले में हत्या का केस दर्ज, सब-इंस्पेक्टर गिरफ्तार

तूतीकोरिन में पिता-पुत्र मोबाइल की दुकान चलाते थे, पुलिस ज्यादा देर तक दुकान खोलने को लेकर उठाया था.

तमिलनाडु के तुतीकोरिन में एक मोबाइल शॉप के मालिक पिता पुत्र की पुलिस कस्टडी में मौत के मामले में राज्यभर में विरोध प्रदर्शनों के बाद अब राज्य सरकार ने कार्रवाई की है. खबर है कि तमिलनाडु सरकार ने इस मामले में हत्या का केस दर्ज करके एक सब-इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया है. सब इंस्पेक्टर रघु गणेश को भारतीय दंड संहिता (IPC) की संबंधित धाराओं के तहत तमिलनाडु के CID (आपराधिक जांच विभाग) की अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है. जांच में शामिल एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार देर रात एनडीटीवी को बताया, "प्रारंभिक जांच के बाद, दोनों एफआईआर में जयराज और बेनिक्स की मौत के संबंध में दर्ज एफआईआर में संशोधन किया गया है। इन दोनों एफआईआर में आईपीसी की धारा 302 जोड़ी गई है और सब इंस्पेक्टर रघु गणेश को गिरफ्तार किया गया है."

वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस मामले की जांच के लिए 5 डीएसपी और 10 इंस्पेक्टरों के साथ एक विशेष टीम गठित की गई है. इससे पहले मद्रास उच्च न्यायालय ने सीबी-सीआईडी को तूतिकोरिन पुलिस से इस मामले का चार्ज लेने के लिए कहा था जब तक कि सीबीआई इस केस का चार्ज नहीं ले लेती. 

इस मामले को लेकर देशभर में आक्रोश है, इस सप्ताह के शुरू में मुख्यमंत्री पलानीस्वामी द्वारा सीबीआई को सौंप दिया गया था. इस घटना पर एक आधिकारिक बयान में मुख्यमंत्री और उनके डिप्टी ओ पन्नीरसेल्वम ने मौतों को "बहुत दुर्भाग्यपूर्ण" कहा और परिवार के सदस्यों को न्याय दिया.

59 वर्षीय जयराज और 31 वर्षीय उनके पुत्र बेनीक्स को 19 जून को लॉकडाउन के दौरान अपने मोबाइल फोन की दुकान को 15 मिनट से अधिक समय तक खुला रखने के कारण गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने दावा किया कि दोनों ने लड़ाई की गालियां दी, पुलिस के साथ दुर्व्यवहार किया और गिरफ्तारी का विरोध किया.

परिवार ने आरोप लगाया है कि दो लोगों को पुलिस के हिरासत में बर्बरतापूर्ण यातना दी गई थी. उनके शरीर पर कई घाव थे. उनके मलाशय से खून बह रह था. कई आंतरिक घाव भी लगे थे. 22 जून को सुबह 7.45 बजे बेनीक्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पुलिस द्वारा जारी एक समय के अनुसार, लगभग 9 बजे उनकी मृत्यु हो गई. उनके पिता को उसी रात लगभग 10.30 बजे भर्ती कराया गया था और अगले दिन सुबह 5.40 बजे उनका निधन हो गया.


Video: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: कब रुकेगी पुलिस की दरिंदगी, कब...?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com