सुशील कुमार से जुड़े सागर पहलवान हत्‍या मामले में जिला पुलिस की जांच पर उठे सवाल : सूत्र

सूत्रों के अनुसार, मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच ने मॉडल टाउन थाने के उन तमाम पुलिसवालों से पूछताछ की है जो घटना के बाद छत्रसाल स्टेडियम पहुंचे थे. 

सुशील कुमार से जुड़े सागर पहलवान हत्‍या मामले में जिला पुलिस की जांच पर उठे सवाल : सूत्र

सागर धनखड़ हत्‍या मामले में सुशील कुमार को अरेस्‍ट किया जा चुका है (फाइल फोटो)

खास बातें

  • क्राइम ब्रांच में कुछ पुलिसवालों से की है पूछताछ
  • ये पुलिसकर्मी घटना के बाद पहुंचे थे छत्रसाल स्‍टेडियम
  • मामले में रेसलर सुशील कुमार को किया जा चुका है अरेस्‍ट
नई दिल्ली:

Sagar Dhankad murder case: अंतरराष्‍ट्रीय रेसलर सुशील कुमार से जुड़े सागर पहलवान हत्याकांड मामले में जिला पुलिस की जांच सवालों के घेरे में है. सूत्रों के अनुसार, मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच ने मॉडल टाउन थाने के उन तमाम पुलिसवालों से पूछताछ की है जो घटना के बाद छत्रसाल स्टेडियम पहुंचे थे. सबसे बड़ा औऱ अहम सवाल यह है कि क्‍या घटना वाली रात यानी 4 मई को सागर की पिटाई और अस्पताल में उसकी मौत हो जाने तक सुशील कुमार (Sushil Kumar) छत्रसाल स्टेडियम के अपने घर में मौजूद था? क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक,  अगले दिन सुबह सुशील छत्रसाल स्टेडियम के अपने बंगले से फरार हो गया.

सागर हत्याकांड : सुशील कुमार का एक और साथी गिरफ्तार, अब तक 10 आरोपी हो चुके अरेस्ट

मामले में चश्मदीद सोनू महाल ने भी बताया कि उसे और उसके एक साथी को सुशील ने पिटाई के बाद घर की बेसमेंट में छिपा दिया था और ऊपर से चद्दर ढंक दिया था. बाहर कार के नीचे छिपे अमित ने पुलिस को जब यह सब बताया तब पुलिस ने इन दोनों को अंदर से निकाला था. इसके पहले, पुलिस एक बार घर की तलाशी कर चुकी थी. सोनू महाल के मुताबिक, 'पिटाई के वक्त सुशील ने शराब पी रखी थी और वह डराने के लिए लगातार फायरिंग कर रहा था. वह कह रहा था आज तुम्हे ज़िंदा नहीं छोडूंगा, तुमको बदमाश बनाता हूं आज. उसके बाद बेसबॉल बैट और लोहे की रॉड से सुशील ने खुद पिटाई की.' 


जेल में स्पेशल डाइट चाहते थे पहलवान सुशील कुमार, कोर्ट ने दिया ये जवाब

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सोनू के मुताबिक, सुशील कह रहा था कि सतपाल गुरु जी की पूरी सेटिंग है, हमारा कुछ नहीं होगा. सुशील, सागर धनकड़ से जलता था क्योंकि वो कुश्ती में तेजी से उभर रहा था. सुशील को लगता था कि कहीं ये हमसे आगे न निकल जाए. एक बार सागर धनकड़, वीरेंद्र के अखाड़े में अपने पहलवान साथियों को ले गया तो सुशील इस बात से बहुत नाराज हुआ. सुशील का बड़े बदमाशों के साथ उठना बैठना था, वो बदमाशों को हमारा मर्डर करने के लिये ही लाया था.