रेलवे का निजीकरण करना तबाही वाला कदम : अभिषेक मनु सिंघवी

कांग्रेस ने मोदाी सरकार से कहा- थोड़ा और नहीं रुक सकते थे कि संसद में इस पर बहस कराके फिर फैसला लें, वर्चुअल संसद क्यों नहीं बुलाते?

रेलवे का निजीकरण करना तबाही वाला कदम : अभिषेक मनु सिंघवी

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि रेलवे का निजीकरण तबाही वाला कदम है. उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्र सरकार पर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि ''संसद में दो दिन की बहस में आपने (मोदी सरकार) कहा था कि निजीकरण नहीं करेंगे. आप कह सकते हैं कि निजीकरण नहीं कर रहे, कुछ लाइनों को निजी हाथों में दे रहे हैं. इस तरह शब्दों से मत खेलिए.''

सिंघवी ने कहा कि ''आपका फ्रेट कम हो रहा है, राजस्व कम हो रहा है, ऊपर से कोरोना है. फिर क्यों कर रहे हैं ये? आप थोड़ा और नहीं रुक सकते थे कि संसद में इस पर बहस कराके फिर फ़ैसला लें. वर्चुअल संसद क्यों नहीं बुलाते आप.''


अहमद पटेल से प्रवर्तन निदेशालय ED की पूछताछ पर उन्होंने कहा कि ''ये निराशा और प्रतिशोध की राजनीति है. गुजरात (राज्यसभा चुनाव) में मिली हार अभी तक भुला नहीं पाए हैं. अभी तक (आरोपी के) परिवार और अहमद पटेल के बीच कोई लिंक नहीं मिला है. एक भी सबूत नहीं मिला है. लेकिन परेशान किया जा रहा है. चीन और कोरोना के कुप्रबंधन से ध्यान हटाने की भी कोशिश है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रियंका गांधी वाड्रा से सरकारी घर खाली कराने पर सिंघवी ने कहा कि ''प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह इन सबका थ्रेट परसेप्शन और सुरक्षा चक्र अब भी वही है लेकिन सरकार नाम बदलकर सब कुछ बदल रही है. जेड प्लस थ्रेट परसेप्शन अभी भी है सरकार की ही एजेंसियों की अपनी एसेसमेंट में, लेकिन सुरक्षा बदली जा रही है. प्रियंका गांधी जहां भी रहेंगी आवाज़ बुलंद करती रहेंगी.''