UP में पहले अपराधी और माफिया खेल खेलते थे, अब योगी सरकार उनके साथ जेल-जेल खेल रही : मेरठ में PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा, पांच साल पहले इसी मेरठ की बेटियां शाम होने के बाद अपने घर से निकलने से डरती थीं लेकिन आज मेरठ की बेटियां पूरे देश का नाम रौशन कर रही हैं." पीएम ने कहा, "हमारे मेरठ और आसपास के क्षेत्रों के लोग कभी भूल नहीं सकते कि लोगों के घर जला दिए जाते थे और पहले की सरकार अपने खेल में लगी रहती थी. पहले की सरकारों के खेल का ही नतीजा था कि लोग अपना पुश्तैनी घर छोड़कर पलायन के लिए मजबूर हो गए थे."

UP में पहले अपराधी और माफिया खेल खेलते थे, अब योगी सरकार उनके साथ जेल-जेल खेल रही : मेरठ में PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरठ के सलावा इलाके में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया.

मेरठ:

यूपी विधान सभा चुनावों (UP Assembly Polls 2022) का ऐलान होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज (रविवार, 2 जनवरी) पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Western Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut)  में 'मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय' (Major Dhyan Chand Sports University) का शिलान्यास किया, जो राज्य का पहला खेल विश्वविद्यालय होगा. नए साल में उत्तर प्रदेश के अपने पहले दौरे पर आए प्रधानमंत्री ने मेरठ के सलावा इलाके में मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया. इस अवसर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे.

इस मौके पर जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने पिछली सरकारों पर निशाना साधा. उन्होंने सपा का नाम लिए बिना कहा कि UP में पहले अपराधी और माफिया खेल खेलते थे, पहले यहां अवैध कब्जे के टूर्नामेंट होते थे, बेटियों पर फब्तियां कसने वाले खुलेआम घूमते थे लेकिन अब योगी सरकार उन लोगों के साथ जेल-जेल खेल रही है.

पीएम मोदी ने कहा, पांच साल पहले इसी मेरठ की बेटियां शाम होने के बाद अपने घर से निकलने से डरती थीं लेकिन आज मेरठ की बेटियां पूरे देश का नाम रौशन कर रही हैं." पीएम ने कहा, "हमारे मेरठ और आसपास के क्षेत्रों के लोग कभी भूल नहीं सकते कि लोगों के घर जला दिए जाते थे और पहले की सरकार अपने खेल में लगी रहती थी. पहले की सरकारों के खेल का ही नतीजा था कि लोग अपना पुश्तैनी घर छोड़कर पलायन के लिए मजबूर हो गए थे."

"पार्टी जहां से कहेगी मैं वहां से UP विधानसभा का चुनाव लड़ूंगा": योगी आदित्यनाथ

प्रधानमंत्री ने कहा, "मेरठ, देश की एक और महान संतान, मेजर ध्यान चंद जी की भी कर्मस्थली रहा है. कुछ महीने पहले केंद्र सरकार ने देश के सबसे बड़े खेल पुरस्कार का नाम दद्दा के नाम पर किया था. आज मेरठ की स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी मेजर ध्यान चंद जी को समर्पित की जा रही है." PM ने कहा कि मेरठ और आसपास के इस क्षेत्र ने स्वतंत्र भारत को भी नई दिशा देने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है. उन्होंने कहा कि राष्ट्ररक्षा के लिए सीमा पर बलिदान हों या फिर खेल के मैदान में राष्ट्र के लिए सम्मान, राष्ट्रभक्ति की अलख को इस क्षेत्र ने प्रज्जवलित रखा है.

युवाओं पर फोकस करते हुए पीएम ने कहा, "युवा नए भारत का कर्णधार भी है, विस्तार भी है. युवा नए भारत का नियंता भी है, नेतृत्वकर्ता भी है. हमारे आज के युवाओं के पास प्राचीनता की विरासत भी है, आधुनिकता का बोध भी है. और इसलिए, जिधर युवा चलेगा उधर भारत चलेगा.. और जिधर भारत चलेगा उधर ही अब दुनिया चलने वाली है."

PM ने इस बात पर जोर दिया कि अब खिलाड़ियों ट्रेनिंग की आधुनिक सुविधाएं, अंतरराष्ट्रीय एक्सपोजर, चयन में पारदर्शिता चाहिए. उन्होंने कहा कि इसलिए हमारी सरकार ने बीते वर्षों में भारत के खिलाड़ियों को ये चार शस्त्र जरूर मिले, इसके लिए इसे सर्वोच्च प्राथमिकता दी है.

उत्तर प्रदेश में अब कोई 'बाहुबली' नहीं बल्कि 'बजरंगबली' दिखाई पड़ते हैं : अमित शाह

प्रधानमंत्री ने कहा कि जो नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी लागू हो रही है, उसमें भी खेल को प्राथमिकता दी गई है. उन्होंने कहा, "स्पोर्ट्स को अब उसी श्रेणी में रखा गया है, जैसे साईंस, कॉमर्स या दूसरी पढ़ाई हो. पहले खेल को एक्स्ट्रा एक्टिविटी माना जाता था, लेकिन अब स्पोर्ट्स स्कूल में बाकायदा एक विषय होगा."

प्रधानमंत्री ने कहा, "आज योगी जी की सरकार, युवाओं की रिकॉर्ड सरकारी नियुक्तियां कर रही है. ITI से ट्रेनिंग पाने वाले हजारों युवाओं को बड़ी कंपनियों में रोज़गार दिलवाया गया है. नेशनल अप्रेंटिसशिप योजना हो या फिर प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, लाखों युवाओं को इसका लाभ दिया गया है. सरकारों की भूमिका अभिभावक की तरह होती है. योग्यता होने पर बढ़ावा भी दे और गलती होने पर ये कहकर ना टाल दे कि लड़कों से गलती हो जाती है."

उत्तर प्रदेश में COVID प्रोटोकॉल के साथ समय पर चुनाव चाहती हैं सभी पार्टियां : निर्वाचन आयोग

राज्‍य सरकार के एक प्रवक्‍ता ने बताया कि विश्व स्तरीय अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय 91.38 एकड़ क्षेत्र में बनाया जाएगा और इसके निर्माण पर 700 करोड़ रुपए की लागत अनुमानित है. इस विश्वविद्यालय में 1,080 खिलाड़ियों को एक साथ प्रशिक्षण दिया जा सकेगा. इसमें खेल, खेल विज्ञान तथा खेल प्रौद्योगिकी के विभिन्न पाठ्यक्रमों के अलावा प्रशिक्षण एवं शोध कार्य भी संचालित किए जाएंगे.

विश्वविद्यालय के शिलान्यास से पहले प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम स्‍थल पर मौजूद खिलाडि़यों से बातचीत की. इसके अलावा उन्होंने खेल उत्पादों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया और मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय के मॉडल को भी देखा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पूर्व, मोदी मेरठ स्थित काली पलटन मंदिर गए और उन्होंने वहां पूजा की. इसके बाद उन्होंने शहीद स्मारक भवन में अमर जवान ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी.