अंबानी धमकी केस: आरोपी विनायक शिंदे और पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के बीच कनेक्शन पर NIA की नजर

NIA ने अंबानी धमकी केस में बुधवार को परमबीर सिंह और पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा से पूछताछ की. प्रदीप शर्मा और मनसुख हीरेन की हत्या के आरोपी पुलिस अफसर विनायक शिंदे के बीच कनेक्शन को लेकर NIA ने पूछताछ की.

अंबानी धमकी केस: आरोपी विनायक शिंदे और पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के बीच कनेक्शन पर NIA की नजर

अंबानी धमकी केस में परमबीर सिंह और प्रदीप शर्मा से NIA ने की पूछताछ.

मुंबई :

मुकेश अंबानी बम धमकी मामले की जांच कर रही NIA ने बुधवार को दो अहम व्यक्तियों से पूछताछ की. एक पूर्व मुम्बई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह और दूसरे पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा से. दोनों का ही कनेक्शन मामले के मुख्य आरोपी एपीआई सचिन वझे से है, लिहाजा उसी संबंध में दोनों को NIA ने तलब किया है.

प्रदीप शर्मा पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट हैं और सचिन वझे उनकी यूनिट में पहले काम कर चुका है. इतना ही नही तो मनसुख की हत्या के आरोप में गिरफ्तार पूर्व पुलिस सिपाही विनायक शिंदे भी उनके साथ काम कर चुका था.

सूत्रों के मुताबिक, प्रदीप शर्मा से दोनों के सम्बंध और हाल-फिलहाल मिलने या बात करने से जुड़े सवाल पूछे गए. सूत्रों का ये भी दावा है कि विनायक शिंदे का लोकेशन अंधेरी भी मिला है, जहां प्रदीप शर्मा रहते हैं. इसके अलावा प्रदीप शर्मा 2 मार्च को मुम्बई पुलिस मुख्यालय भी गए थे.

प्रदीप शर्मा ने तो इस पर कुछ भी कहने से मना कर दिया है लेकिन उनके करीबी सूत्रों के मुताबिक विनायक शिंदे से उनकी मुलाकात पिछले 5 साल से नही हुई थी. सचिन वझे से भी 2 मार्च को पुलिस मुख्यालय में मुलाकात के अलावा फोन पर ही बात हुई है. प्रदीप शर्मा ने NIA को दिए बयान में आतंकी साजिश और मनसुख मर्डर दोनों से कोई भी सरोकार होने से इनकार किया है.

सचिन वाजे की पोस्टिंग मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के आदेश पर हुई थी : रिपोर्ट


सचिन वझे और परमबीर सिंह के बीच नया कनेक्शन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वर्तमान में होमगार्ड डीजी और गृहमंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली का टारगेट देने का आरोप लगाने वाले परमबीर सिंह जब NIA के सवालों का जवाब दे रहे थे, उसी समय गृह विभाग को मुम्बई पुलिस द्वारा 30 मार्च को दी गई रिपोर्ट सार्वजनिक हो गई. उस रिपोर्ट के मुताबिक, वझे को क्रिमिनल इंटेलिजेंस यूनिट में लाने वाले खुद परमबीर सिंह थे और वझे सीधे उन्हें रिपोर्ट करते थे. इतना ही नहीं, किसे बुलाना है, गिरफ्तार करना है या गवाह बनाना है, ये सब आदेश वो खुद वझे को देते थे. NIA ने वझे की साजिश से जुड़े सवाल परमबीर सिंह से किए और ये जानने की कोशिश की कि क्या उनको भी इस सबकी जानकारी थी?