महाराष्ट्र : सरकारी बीमा योजनाओं के तहत होगा म्यूकोर्मिकोसिस मरीजों का इलाज

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) ने मंगलवार को कहा कि म्यूकोर्मिकोसिस रोगियों को PMJAY और MJPJAY सरकारी स्वास्थ्य बीमा योजनाओं में शामिल किया जाएगा.

महाराष्ट्र : सरकारी बीमा योजनाओं के तहत होगा म्यूकोर्मिकोसिस मरीजों का इलाज

कई राज्यों में म्यूकोर्मिकोसिस के मामले सामने आए हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • चिंता का विषय बनी म्यूकोर्मिकोसिस बीमारी
  • सरकारी बीमा योजनाओं के तहत होगा इलाज
  • महाराष्ट्र में भी म्यूकोर्मिकोसिस के सैकड़ों मामले
मुंबई:

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) ने मंगलवार को कहा कि म्यूकोर्मिकोसिस रोगियों को PMJAY और MJPJAY सरकारी स्वास्थ्य बीमा योजनाओं में शामिल किया जाएगा. म्यूकोर्मिकोसिस एक फंगल संक्रमण है, जो अधिकतर COVID-19 रोगियों में देखा जा रहा है. एक सरकारी आदेश (जीआर) में कहा गया है कि इस बीमारी से पीड़ित लोगों का राज्य की महात्मा ज्योति राव फुले जन आरोग्य योजना (एमजेपीजेएवाई) तथा केन्द्र की प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएवाई) के तहत इलाज किया जाएगा, जिसमें एक परिवार को 1.50 लाख रुपये का स्वास्थ्य कवर मिलता है.

जीआर में कहा गया है कि म्यूकोर्मिकोसिस रोगियों को 11 सर्जिकल पैकेज और आठ मेडिकल पैकेज प्रदान किये जाएंगे. आदेश के अनुसार, इसके अलावा राज्य आश्वासन समिति पांच लाख रुपये तक का खर्च उठाएगी.

म्यूकोर्मिकोसिस की दवा Amphotericin B को लेकर केंद्र ने राज्यों से क्या कहा?

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, 'फंगल-रोधी दवाएं महंगी होती हैं और फिलहाल इनकी कमी है. प्रत्येक जिले का सिविल सर्जन इनकी स्टॉक उपलब्धता और वितरण का प्रबंध करेगा.'

अस्पताल की छत पर चढ़ी महिला, बोली- "ब्लैक फंगस से पीड़ित पति को इंजेक्शन नहीं मिले तो कूद कर जान दे दूंगी"


जीआर में कहा गया है कि म्यूकोर्मिकोसिस संक्रमण गंभीर चिंता का विषय बन गया था. इससे पहले टोपे ने कहा था कि राज्य में इस बीमारी के लगभग 1,500 मामले हैं. सरकारी सूत्रों के अनुसार, राज्य में पिछले साल कोरोनावायरस महामारी फैलने के बाद से म्यूकोर्मिकोसिस से कम से कम 52 लोगों की मौत हो चुकी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कोरोना से देश में करीब 1000 डॉक्टरों की मौत, कैसे रुके यह सिलसिला?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)