घोर लापरवाही : 12 बच्चों को पोलियो के बजाए दी गई सैनेटाइजर की दो बूंदे

घोर लापरवाही के एक मामले में महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के एक गांव में 12 बच्चों को पोलियो की बूंदों के स्थान पर सैनेटाइजर के ड्रॉप दे दिए गए। एक अधिकारी ने सोमवार को इस बारे में बताया.

घोर लापरवाही : 12 बच्चों को पोलियो के बजाए दी गई सैनेटाइजर की दो बूंदे

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

घोर लापरवाही के एक मामले में महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के एक गांव में 12 बच्चों को पोलियो की बूंदों के स्थान पर सैनेटाइजर के ड्रॉप दे दिए गए. एक अधिकारी ने सोमवार को इस बारे में बताया. जिले के एक अधिकारी ने कहा कि प्रभावित बच्चों को एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर है. सभी बच्चों की उम्र पांच साल से कम थी. तीन स्वास्थ्यकर्मियों के खिलाफ इस तरह की चूक के लिए कार्रवाई की जाएगी.

बजट में निर्मला सीतारमण ने बुजुर्गों को दी बड़ी राहत, 75 साल से ऊपर के लोगों को नहीं भरना होगा टैक्स

अधिकारी ने बताया कि यह घटना कापसिकोपरी गांव में भानबोरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर हुई जहां एक से पांच साल के बच्चों के लिए राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जा रहा है. यवतमाल जिला परिषद के सीईओ श्रीकृष्ण पंचाल ने बताया कि पांच साल से कम उम्र के 12 बच्चों को पोलियो की बूंदों के स्थान पर सैनेटाइजर की दो बूंदें दी गयी. बच्चों ने उल्टी और बेचैनी की शिकायत की.


किसान नेताओं ने 6 फरवरी को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक देश भर में चक्का जाम करने का ऐलान किया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने बताया कि जिन बच्चों को सैनेटाइजर की बूंदे दी गयी थी उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सभी बच्चों की हालत स्थित हैं और उन पर निगरानी रखी जा रही है. उन्होंने कहा कि आरंभिक सूचना के मुताबिक घटना के समय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक डॉक्टर, एक आंगनवाड़ी सेविका और एक आशा कार्यकर्ता मौजूद थीं. जांच शुरु की गयी है और तीनों स्वास्थ्यकर्मियों को निलंबित किया जाएगा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)