मुंबई: अस्‍पताल में आग लगने के मामले में देवेंद्र फडणवीस की दोटूक 'मुख्‍यमंत्री को जिम्‍मेदारी लेनी पड़ेगी'

बीजेपी नेता फडणवीस ने कहा, 'मेक शिफ्ट अस्पताल में भी जल्दी फायर ऑडिट होना चाहिए.इस घटना की पूरी जांच होनी चाहिए और जो दोषी है उन पर कार्रवाई हो.

मुंबई: अस्‍पताल में आग लगने के मामले में देवेंद्र फडणवीस की दोटूक 'मुख्‍यमंत्री को जिम्‍मेदारी लेनी पड़ेगी'

देवेंद्र फडणवीस ने कहा, मेक शिफ्ट अस्पताल में भी जल्दी फायर ऑडिट होना चाहिए

खास बातें

  • कहा, सरकार और कितनों की मौत के बाद जागेगी
  • घटना में BMC और सरकार की लापरवाही दिख रही
  • मेक शिफ्ट अस्‍पताल में भी फायर ऑडिट होना चाहिए
मुंंबई:

महाराष्‍ट्र के महानगर मुंबई के एक कोविड अस्पताल (Covid care Hospital) में लगी आग के मामले में राज्‍य विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने उद्धव ठाकरे सरकार (Uddhav thackeray Government) पर निशाना साधा है. पूर्व मुख्‍यमंत्री और बीजेपी नेता फडणवीस ने कहा, 'सरकार और कितनों की मौत के बाद जागेगी. मेक शिफ्ट अस्पताल में भी जल्दी फायर ऑडिट होना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि इस घटना की पूरी जांच होनी चाहिए और जो दोषी है उन पर कार्रवाई हो. मुख्यमंत्री को जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी.

''मैं माफी मांगता हूं'' : मुंबई के अस्‍पताल में आग से हुई मौतों पर बोले सीएम उद्धव ठाकरे

पूर्व सीएम ने फडणवीस कहा कि बीएमसी में भ्रष्टाचार से कैसे भी किसी को भी अनुमति मिलती है, ऐसे कामों पर लगाम लगनी चाहिए. भंडारा की आग की घटना के बाद सभी अस्पतालों के फायर ऑडिट की घोषणा मुख्यमंत्री ने की थी लेकिन लगता नहीं कि किसी भी अस्पताल का फायर ऑडिट हुआ. फडणवीस ने कहा कि बचावकार्य में काफी मुश्किलें आईं, इस घटना में बीएमसी और सरकार की लापरवाही दिखती है.


दिल्ली पुलिस के जवान ने 'स्पाइडरमैन' की तरह तीसरी मंजिल पर की चढ़ाई, आग से 3 की जिंदगी बचाई ! 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


तबादला-पोस्टिंग मामले को लेकर फडणवीस ने कहा कि मुख्य सचिव सीताराम कुंटे की रिपोर्ट देखकर लगता है उन्होंने (कुंटे ने) नहीं, बल्कि जितेंद्र आव्हाड या नवाब मलिक ने रिपोर्ट बनाई है. टेलीग्राफ एक्ट में साफ तौर पर कहा कि कोई भी गुनाह होगा उसकी जानकारी हो तो ये काम किया जा सकता है, लेकिन इस रिपोर्ट से तो ये लाइन ही गायब कर दी. इस रिपोर्ट को नवाब मलिक ने खोला. उन्होंने इस रिपोर्ट को पब्लिक किया है. उचित समय पर हम कोर्ट में जरूरत पड़ने पर अपनी बात रखेंगे.