दिल्ली पुलिस के जवान ने 'स्पाइडरमैन' की तरह तीसरी मंजिल पर की चढ़ाई, आग से 3 की जिंदगी बचाई ! 

पुलिस अधिकारी ने बताया, "तीन लोग तीसरी मंजिल की बालकनी में पूरी तरह से लोहे की ग्रिल से ढंके हुए थे. इसका मतलब था कि इमारत में आग लगने की वजह से उनका बचना मुश्किल था.  दमकल की गाड़ियों के पहुंचने पर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया."

दिल्ली पुलिस के जवान ने 'स्पाइडरमैन' की तरह तीसरी मंजिल पर की चढ़ाई, आग से 3 की जिंदगी बचाई ! 

अधिकारियों ने बताया कि जब फायर डिपार्टमेंट के अधिकारी मौके पर पहुंचे तो उनकी मदद से तीनों को बाहर निकाला गया.

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस के जवान की सूझ-बूझ और त्वरित कार्रवाई से 87 वर्षीय बुजुर्ग महिला समेत तीन लोगों को बचा लिया गया, जो आग लगने की वजह से अपने घर में तीसरी मंजिल पर फंसे हुए थे. दक्षिणी दिल्ली के ग्रेटर कैलाश -1 में आज सुबह 6:55 बजे दिल्ली पुलिस को एक कॉल आई जिसके बाद पुलिसकर्मी परिवार को बचाने के लिए दौड़ पड़े.

आग बिल्डिंग के दूसरे फ्लोर पर लगी थी. तीसरे फ्लोर पर आग की लपटें पहुंचती, उससे पहले पुलिस के जवान वहां पहुंच गए और एक 'स्पाइडरमैन' की तरह लोहे की ग्रिल पकड़कर वह तीसरी मंजिल पर जा पहुंचे. इसके बाद पुलिसकर्मी ने एक-एककर तीनों को रेस्क्यू कर बाहर निकाल लिया.


आग की लपटों के बीच, दो पुलिसकर्मी- हेड कॉन्स्टेबल मुंशीलाल और कॉन्स्टेबल संदीप- ने अपनी जान जोखिम में डालकर लोहे की ग्रिल के सहारे तीसरी मंजिल पर चढ़ाई की ताकि वहां फंसे परिवार को सुरक्षित बाहर निकाला जा सके. ग्रिल पर चढ़कर दोनों पुलिसकर्मियों ने परिवार के साथ बातचीत कर उन्हें शांत किया और उन्हें रेस्क्यू कर बाहर निकालने में मदद की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अधिकारियों ने बताया कि जब फायर डिपार्टमेंट के अधिकारी मौके पर पहुंचे तो उनकी मदद से तीनों को बाहर निकाला गया. चार दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू पा लिया. पुलिस अधिकारी ने बताया, "तीन लोग तीसरी मंजिल की बालकनी में पूरी तरह से लोहे की ग्रिल से ढंके हुए थे. इसका मतलब था कि इमारत में आग लगने की वजह से उनका बचना मुश्किल था.  दमकल की गाड़ियों के पहुंचने पर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया."