NIA ने स्पेशल कोर्ट से कहा- महाराष्ट्र ATS नहीं सौंप रही मनसुख हिरेन हत्या के केस पेपर

हिरेन हत्याकांड मामले की जांच भी गृहमंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंप दी है. मुकेश अंबानी को धमकी देने के मामले की जांच भी एनआईए कर रही है. एनआईए को शक है कि निलंबित कर दिए गए पुलिस अधिकारी वाजे की स्कॉर्पियो खड़ी करने में भूमिका है.

NIA ने स्पेशल कोर्ट से कहा- महाराष्ट्र ATS नहीं सौंप रही मनसुख हिरेन हत्या के केस पेपर

प्रतीकात्मक तस्वीर.

मुंबई:

ठाणे के ऑटो पार्ट्स डीलर मनसुख हिरेन के मौत के मामले को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मंगलवार को विशेष अदालत को सूचित किया कि महाराष्ट्र एटीएस (ATS) हिरेन की हत्या के मामले को एनआईए को नहीं सौंप रही है. एनआईए ने अदालत को बताया कि 3 दिन हो गए हैं जब गृह मंत्रालय ने मनसुख हिरेन की हत्या के मामले की जांच का आदेश एनआईए को दिया है. लेकिन एटीएस दस्तावेजों को नहीं सौंप रही है. एनआईए के सूत्रों के मुताबिक उन्होंने जरुरी प्रक्रिया का पालन करते हुए महाराष्ट्र डीजी कार्यालय को भी सूचित किया है, लेकिन फिर भी सहयोग नहीं मिला इसलिए हमें अदालत को सूचित करना पड़ा.

मनसुख हिरेन केस: ATS ने सचिन वाजे को 14 सिम कार्ड देने वाले गुजरात के शख्‍स को हिरासत में लिया

गौरतलब है कि आज ही महाराष्ट्र ATS के प्रमुख जयजीत सिंह ने सचिन वाज़े की कस्टडी के लिए 25 मार्च NIA की अदालत में अर्जी देने का दावा किया. वहीं, एंटीलिया केस में एक और कार की एंट्री हुई है. इस बार वॉल्वे कार जब्त की गई है. मनसुख मर्डर मामले की जांच कर रही ATS ने दमन से एक काले रंग की वॉल्वो कार जब्त की है. कार एक बडे कारोबारी की बताई जा रही है. लेकिन मनसुख हिरेन की हत्या में इसकी क्या भूमिका है. इसकी पड़ताल अभी बाकी है. इस कार के साथ ही इस मामले में जब्त की गई वाहनों की संख्या छह पहुंच गई है. यह सब 25 फरवरी को उस वक्त शुरू हुआ, जब विस्फोटक से लदी महिंद्रा स्कॉर्पियो कार मुकेश अंबानी के घर के पास मिली थी, इसके साथ ही उस कार में उनके परिवार के नाम धमकी भरा खत भी था. 

हिरेन हत्याकांड मामले की जांच भी गृहमंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंप दी है. मुकेश अंबानी को धमकी देने के मामले की जांच भी एनआईए कर रही है. एनआईए को शक है कि निलंबित कर दिए गए पुलिस अधिकारी वाजे की स्कॉर्पियो खड़ी करने में भूमिका है. यह कार हिरेन की थी, जिसने 17 फरवरी को चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. इसके बाद 5 मार्च को हिरेन ठाणे में मृत पाए गए थे.

मुंबई के पूर्व कमिश्नर ने मुकेश अंबानी को खतरे वाले केस से ध्यान बंटाने के लिए लगाए 'अनर्गल आरोप' : शरद पवार

एनआईए का मानना है कि इस मामले में मिली टोयटो इनोवा कार से सचिन वाजे ने स्कॉर्पियो को पीछा किया था. इसके बाद एनआईए ने कहा था कि विस्फोटक से लदी स्कॉर्पियो की नंबर प्लेट 17 मार्च को ब्लैक मर्सिडिज बेंज में मिली थी, जिसका इस्तेमाल भी सचिन वाजे ने किया था. इसके साथ ही उस कार से पांच लाख रुपए नकद और एक नोट गिनने की मशीन मिली थी. यह कार ठाणे के साकेत कॉम्पलेक्स के नजदीक सचिन वाजे के घर के पास पार्क मिली थी. इसके बाद दो और लग्जरी कार Toyota Land Cruiser Prado और Mercedes-Benz ML-Class मिली थी. 

Video : मनसुख हिरेन हत्याकांड: महाराष्ट्र ATS चीफ बोले- सचिन वाजे ने कार के इस्तेमाल से किया था इनकार


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com