राजस्थान और महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के केस मिलने के बाद मध्यप्रदेश सरकार अलर्ट पर

महाराष्ट्र और राजस्थान में ओमिक्रॉन के केस मिले हैं. दोनों मध्यप्रदेश के पड़ोसी राज्य हैं लिहाजा इससे राज्य की चिंता बढ़ गई है. मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में इसे लेकर सरकार अलर्ट पर है. एमपी में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

राजस्थान और महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के केस मिलने के बाद मध्यप्रदेश सरकार अलर्ट पर

महाराष्ट्र और राजस्थान में ओमिक्रॉन के केस मिले हैं.

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र और राजस्थान में ओमिक्रॉन के केस मिले हैं. दोनों मध्यप्रदेश के पड़ोसी राज्य हैं लिहाजा इससे राज्य की चिंता बढ़ गई है. मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में इसे लेकर सरकार अलर्ट पर है. एमपी में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इसके चलते एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर टेस्टिंग बढ़ा दी गई है. साथ ही टीकाकरण भी तेज कर दिया गया है. सरकार की तरफ से लोगों से अपील की जा रही है कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें. अभी एमपी में ओमिक्रॉन का कोई केस नहीं मिला है. मगर विदेश से लौटे लोगों पर निगरानी रखी जा रही है.

दिल्ली में सामने आया Omicron का पहला मामला, देशभर में यह पांचवां केस, जानें- कहां-कहां मिले मरीज

इंदौर और जबलपुर में सरकार की विशेष निगाह है. साथ ही भोपाल में भी तेजी से केस बढ़ रहे हैं. एमपी में अभी 11 जिलों में कोरोना वायरस के मामले हैं. पूरे प्रदेश में 133 एक्टिव केस हैं. भोपाल में 15 दिन के अंदर 106 नए मरीज मिले हैं. वहीं, इंदौर में 80 मरीज मिले हैं. इसके बाद जबलपुर में 13 और रायसेन में 12 मरीज मिले हैं. 15 दिन के अंदर की बात करें तो भोपाल में सबसे ज्यादा केस मिले हैं.

आज गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया है कि ओमीक्रोन को लेकर एमपी-छत्तीसगढ़ में अलर्ट और पड़ोसी राज्यों/ बॉर्डर के जिलों में चौकसी बढ़ा दी गई है. इसी के साथ मिश्रा ने ये भी बताया है कि नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क है और पूरी सावधानी बरत रही है.

ओमिक्रॉन संकट को देखते हुए एमपी में वैक्सीनेशन की रफ्तार भी तेज हो गई है. पूरे प्रदेश में वैक्सीनेशन ड्राइव चलाया जा रहा है. इसके साथ ही प्रदेश में नौ करोड़ लोगों को अभी टीका लग गया है. हालांकि कई जगहों पर लोग दूसरी डोज लगवाने से कतरा रहे हैं. इसके बावजूद स्वास्थ्यकर्मी गांव-गांव तक जा रहे हैं.

MP में ओमीक्रोन का खतरा

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भी एमपी पर पड़ोसी राज्यों का ज्यादा असर पड़ा था. पड़ोसी राज्य राजस्थान में ओमिक्रॉन के नौ और महाराष्ट्र में सात केस मिले हैं. दोनों ही राज्यों की सीमा एमपी से लगती है. एक-दूसरे राज्य में लोग धड़ल्ले से आते जाते हैं. ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बढ़ा रहता है. सीएम खुद पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

Omicron : केंद्र ने छह राज्यों को किया अलर्ट, चिट्ठी लिखकर दी हिदायतें


छत्तीसगढ़ में मिल रहे हैं ज्यादा केस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दूसरी लहर के दौरान भी छत्तीसगढ़ में कोरोना ने जमकर कहर बरपाया था. छोटे राज्य होने के बावजूद यहां 10 हजार के पार केस कई दिनों तक मिलते रहे थे. ओमिक्रॉन को लेकर यहां भी एहतियात बरती जा रही है. रविवार को पूरे प्रदेश में 25 नए मरीज मिले हैं. यह आंकड़ा बड़ा है. पूरे प्रदेश में 326 एक्टिव केस हैं. छत्तीसगढ़ की सीमा भी महाराष्ट्र से लगती है.