मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 20 नए केस सामने आए, सीएम शिवराज ने दिए सख्ती के निर्देश

मंगलवार 30 नवंबर 201 को 20 कोरोना पॉजिटिव मिले है और एक्टिव केस 110 के पार बने हुए है. अकेले भोपाल में आज 14 नए केस सामने आए है.

मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 20 नए केस सामने आए, सीएम शिवराज ने दिए सख्ती के निर्देश

अकेले भोपाल में आज 14 नए केस सामने आए है....

भोपाल :

मध्य प्रदेश में नवंबर के कोरोना (MP Corona Update Today) के आंकड़ों ने टेंशन बढ़ा दी है. 20 नए कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं और एक्टिव केस 110 के पार बने हुए हैं. अकेले भोपाल में आज 14 नए केस सामने आए हैं. इन आंकड़ों को देखने के बाद और कैबिनेट बैठक से पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बड़ी बैठक बुलाई और कई कड़े निर्देश दिए.1 दिसंबर 2021 को जिला क्राइसिस कमेटी की बैठक बुलाई गई है. वहीं खुद सीएम जागरूकता अभियान को गति देने के लिए सड़कों पर निकलेंगे. बैठक में कैबिनेट मंत्री सारंग और स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी सहित सीएस और अन्य अफसर मौजूद रहे.

पिछले 24 घंटो में 20 नए मामले दर्ज 
 
ग्रह मंत्री ने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में  कोरोना के 20 नए केस मिले हैं जिनमें 14 भोपाल से और 5 इंदौर से है और वर्तमान में कोरोना संक्रमण की दर 0.04 % और रिकवरी रेट 98.60% है. प्रदेश में कोरोना के कुल एक्टिव केसों की संख्या 119 है.

नए वेरियंट से प्रदेश में अलर्ट

हाल ही प्रदेश में कोरोना को लेकर सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. एक बार फिर स्कूल 50% क्षमता से खुलेंगे यानी एक बच्चा 6 दिन में से 3 दिन ही पढ़ने जाएगा. ऑनलाइन क्लासेस बंद नहीं होंगी, ताकि पेरेंट्स के पास विकल्प रहे. उनकी इच्छा होगी तो ही बच्चे स्कूल जाएंगे. बिना अनुमति के बच्चे स्कूल नहीं बुलाए जाएंगे. अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों पर नजर रखी जाएगी. नए वैरिएंट के चलते प्रदेशभर में अलर्ट किया गया है.

मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश 

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि एक क्षण भी लापरवाही ना की जाए, टेस्ट की संख्या बढ़ाएं, पॉजिटिव मरीजों को आइसोलेट करें, इसके अलावा जरूरत पड़ने पर छोटे कंटेंटमेंट जोन बनाएं, मास्क पहनने पर जोर दें, सोशल डिस्टेंसिंग का आग्रह करें. इसके अलावा मुख्यमंत्री चौहान ने भोपाल एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर कोरोना जांच शुरू करने के भी निर्देश दिए हैं. सीएम ने कहा कि भोपाल में काटजू अस्पताल सहित अन्य अस्पतालों का चयनित करके रखें. अस्पतालों में कोरोना से संबंधित सभी आवश्यक मशीन और उपकरण को एक बार चेक करवा लें और एक पूरी कार्ययोजना तैयार कर पूरा प्रशासन अलर्ट पर रहे. 
 

क्या भारत में भी पहुंच चुका है ओमिक्रॉन?


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com