भूमि विवाद में कथित तौर पर तीन लोगों के अपहरण के मामले में तेलुगुदेशम की पूर्व मंत्री गिरफ्तार

पुलिस ने कथित तौर पर खुद को आयकर विभाग का अधिकारी बताने वाले लोगों द्वारा अपहृत किए गए एक पूर्व खिलाड़ी और उनके दो भाइयों को बुधवार तड़के मुक्त करा लिया.

खास बातें

  • मामला 200 करोड़ रुपये की विवादित भूमि से जुड़ा
  • अखिला प्रिया के पति भी है मामले में आरोपी
  • पुलिस ने बुधवार तड़के तीनों लोगों को मुक्‍त कराया
हैदराबाद :

तेलंगाना राज्‍य के अपहरण और फिर बचाव के मामले ने हर किसी को हैरानी में डाला है. इस मामले में आरोपी पड़ोसी राज्‍य आंध्र प्रदेश से तेलुगुदेशम पार्टी से पूर्व मंत्री है, उन्‍होंने कथित तौर पर 200 करोड़ रुपये की विवादित जमीन के लिए तीन लोगों का अपहरण कराया. TDP की पूर्व मंत्री भूमा अखिला प्रिया को हैदराबाद पुलिस ने तीन भाइयों के अपहरण के मामले में गिरफ्तार किया है जिसमें एक पूर्व हॉकी खिलाड़ी प्रवीण राव शामिल है. मामले के अन्‍य आरोपियों में अखिला प्रिया के पति भार्गव राम और एवी सुब्‍बारेड्डी शामिल हैं.

पुलिस ने कथित तौर पर खुद को आयकर विभाग का अधिकारी बताने वाले लोगों द्वारा अपहृत किए गए एक पूर्व खिलाड़ी और उनके दो भाइयों को बुधवार तड़के मुक्त करा लिया. पुलिस सूत्रों ने दर्ज मामले के आधार पर बताया कि मंगलवार रात बोवेनपल्ली इलाके में प्रवीण के घर तलाशी लेने के बहाने करीब 15 लोग घुस गए जिन्होंने खुद को आयकर विभाग का अधिकारी बताया. उन्होंने बताया कि गिरोह ने प्रवीण और उनके दो भाइयों को पहले एक कमरे में बंद कर दिया और फिर उन्हें एक फॉर्महाउस ले गए.

अधिकारियों के अनुसार, संदेह होने पर परिवार के सदस्यों ने इस संबंध में पुलिस को जानकारी दी जिसने कुछ ही घंटे के भीतर तीनों भाइयों को मुक्त करा लिया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि घटना एक कथित भूमि विवाद के चलते हुई. पीड़ितों के एक रिश्तेदार ने मीडिया को बताया कि करीब 15 लोग खुद को आयकर और पुलिस अधिकारी बताते हुए घर में घुस गए तथा तलाशी वारंट भी दिखाया. उन्होंने परिवार के सदस्यों को एक घंटे से ज्यादा समय तक एक कमरे में बंद रखा और उनके मोबाइल तथा लैपटॉप भी जमा करा लिए.उन्होंने कहा कि संदेह होने पर पुलिस को जानकारी दी गई.(भाषा से भी इनपुट)


सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com