BJP नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की दोटूक, 'देश के सुधारों की राह रोकने की कोशिश करने वाले मुंह के बल...'

राज्यसभा में गुरुवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान ज्योतिरादित्य ने कृषि सुधार के मसले को लेकर कांग्रेस पर दोहरे रवैये का आरोप लगाया था.

BJP नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की दोटूक, 'देश के सुधारों की राह रोकने की कोशिश करने वाले मुंह के बल...'

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कृषि सुधार के मसले को लेकर कांग्रेस पर दोहरे रवैये का आरोप लगाया है

नई दिल्ली:

Kisan Aandolan: बीजेपी के नेता और राज्‍यसभा सांसद ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya M. Scindia) ने केंद्र सरकार की ओर से किए जा रहे आर्थिक सुधारों का पुरजोर समर्थन किया है. मध्‍यप्रदेश के दिग्‍गज बीजेपी नेता ज्‍योतिरादित्‍य ने इसके साथ ही इन सुधारों की राह में रोड़ा अटकाने वालों को खरी-खरी सुनाई है. पिछले साल ही कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए ज्‍योतिरादित्‍य ने एक ट्वीट में कहा-भारत के सुधारों की लहरों की राह 'रोकने' की कोशिश करने वाले मुंह के बल गिरेंगे. कोविड-19 के बाद के दौर में भारत फिर मजबूत स्थिति हासिल करने के लिए तैयार है.

राज्यसभा में दिखी जुगलबंदी, दिग्विजय बोले- वाह महाराज तो ज्योतिरादित्य ने कहा- आपका ही आशीर्वाद

गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी नीत एनडीए सरकार ने कृषि क्षेत्र में सुधारों को लागू किया है ज्‍योतिरादित्‍य के ट्वीट को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है. सरकार ने तीन कृषि कानूनों को मंजूरी दी है लेकिन इनके खिलाफ किसान आंदोलनरत हैं और इन कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं. गौरतलब है कि राज्यसभा में गुरुवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान ज्योतिरादित्य ने कृषि सुधार के मसले को लेकर कांग्रेस पर दोहरे रवैये का आरोप लगाया था.

यूपी के शामली में 5 फरवरी को होने वाली किसान महापंचायत को नहीं मिली मंजूरी

उन्‍होंने कहा था कि कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र में कृषि सुधार का एजेंडा पेश किया गया था. उस समय के हमारे कृषि मंत्री शरद पवार ने 2010-2011 में हर मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी थी और कहा था कि कृषि में प्राइवेट सेक्टर की भागीदारी जरूरी है और इसके लिए एपीएमसी कानून में संशोधन होना चाहिए. सिंधिया ने कहा कि जुबान बदलने की आदत हमें बदलनी होगी. पट भी मेरा और चट भी मेरा .. यह कब तक चलेगा?


किसान संगठनों का 6 फरवरी को देशभर में चक्का जाम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com