प्रत्यक्ष कक्षाओं की बहाली पर चर्चा के लिए जेएनयू, डीयू और जामिया विश्वविद्यालय बैठक करेंगे

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को घोषणा की कि सभी कॉलेजों को एक सितंबर से दोबारा खोला जा सकता है, जिसके बाद इन विश्विद्यालयों ने बैठकें करने का फैसला किया है.

प्रत्यक्ष कक्षाओं की बहाली पर चर्चा के लिए जेएनयू, डीयू और जामिया विश्वविद्यालय बैठक करेंगे

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सभी कॉलेजों को 1 सितंबर से दोबारा खोला जा सकता है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू), दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) और जामिया मिल्लिया इस्लामिया प्रत्यक्ष कक्षाओं को दोबारा शुरू करने पर चर्चा करने के लिए आंतरिक बैठकें करेंगे. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को घोषणा की कि सभी कॉलेजों को एक सितंबर से दोबारा खोला जा सकता है, जिसके बाद इन विश्विद्यालयों ने बैठकें करने का फैसला किया है. इस महीने की शुरुआत में दिल्ली विश्वविद्यालय ने एक आधिकारिक अधिसूचना जारी कर कोरोना वायरस के मामलों में कमी का हवाला देते हुए विज्ञान विषय के छात्रों के लिए प्रत्यक्ष कक्षाएं दोबारा शुरू करने की घोषणा की थी. हालांकि, विश्वविद्यालय के शिक्षकों के एक वर्ग ने इस फैसले पर नाखुशी जाहिर की थी. बाद में डीयू ने अपना ये फैसला स्थगित कर दिया था.

डीयू के रजिस्ट्रार विकास गुप्ता ने शुक्रवार को कहा, ''हमारे यहां 31 अगस्त को कार्यकारी परिषद की बैठक होगी और उसके बाद हम योजना बनाएंगे और एक बैठक करेंगे. हम एक सितंबर से प्रत्यक्ष कक्षाएं बहाल नहीं कर पाएंगे. जब भी हम दोबारा कक्षाएं शुरू करेंगे, सबसे पहले हम विज्ञान के छात्रों के लिए इसकी शुरुआत करेंगे.'' जेएनयू के कुलपति एम जगदीश कुमार ने कहा कि आधिकारिक आदेश प्राप्त होने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन आतंरिक तौर पर इस पर चर्चा करेगा. वहीं, जामिया मिल्लिया इस्लामिया के एक अधिकारी ने कहा कि प्रत्यक्ष कक्षाओं की बहाली से पहले संस्थान विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के दिशा-निर्देशों का इंतजार करेगा. साथ ही आतंरिक स्तर पर भी चर्चा की जाएगी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com