जेट एयरवेज ढाई साल बाद फिर भरेगी उड़ान, घाटे के चलते बंद हो गई थी एयरलाइन

Jet Airways का कहना है कि वो अधिकारियों के साथ उड़ानों के स्लॉट और अन्य मुद्दों पर विचार विमर्श कर रही है. कंपनी ने एक बयान में कहा है कि उड़ानों के संचालन के लिए एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट पाने की प्रक्रिया भी चल रही है. 

जेट एयरवेज ढाई साल बाद फिर भरेगी उड़ान, घाटे के चलते बंद हो गई थी एयरलाइन

जेट एयरवेज का परिचालन अप्रैल 2019 से बंद है

नई दिल्ली:

जेट एयरवेज  (Jet Airways Flights)  के विमान जल्द ही एयरपोर्ट के रनवे से फिर उड़ान भरते नजर आएंगे. कंपनी के मुताबिक, जेट एय़रवेज की फ्लाइट 2022 की पहली वित्तीय तिमाही से घरेलू उड़ान (domestic flights ) शुरू होंगी. जबकि छमाही के बाद अंतरराष्ट्रीय उड़ान (International Flights) भी चालू की जाएंगी. हालांकि फिलहाल ये विदेशी उड़ान कम दूरी की ही होंगी. एयरलाइन का कहना है कि वो अधिकारियों के साथ उड़ानों के स्लॉट और अन्य मुद्दों पर विचार विमर्श कर रही है. विमानन कंपनी ने एक बयान में कहा है कि उड़ानों के संचालन के लिए एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट पाने की प्रक्रिया भी चल रही है. 
 
यूएई के कारोबारी मुरारी लाल जालान (UAE businessman Murari Lal Jalan) लंदन की जालान कॉर्लाक कंसोर्टियम के अग्रणी सदस्य हैं और प्रस्तावित जेट एयरवेज के गैर कार्यकारी सदस्य हैं. जैन का कहना है कि हमारी योजना तीन साल में 50 से अधिक विमानों के परिचालन की है, जो 5 साल में 100 के भी ऊपर पहुंच जाएगी.

समूह की लंबी अवधि की भी कारोबारी योजना है. जालान ने कहा कि यह विमानन उद्योग के क्षेत्र में इतिहास है कि कोई विमानन कंपनी जो दो साल पहले कारोबार बंद कर चुकी है, उसे दोबारा बहाल किया जा रहा है. हम इस ऐतिहासिक उड़ान के भागीदार बनने को तैयार हैं.

गौरतलब है कि देश का विमानन उद्योग कोरोना महामारी आने के बाद से संकट झेल रहा है. लॉकडाउन के दौरान काफी दिनों तक उड़ानों का संचालन बंद रहा और फिर धीरे-धीरे सीमित संख्या में उड़ानें प्रारंभ की गईं. विदेशी उड़ानों पर भी काफी अंकुश लगने से भी एयरलाइनों का परिचालन प्रभावित हुआ है.


नए अवतार के बाद जेट एयरवेज का मुख्यालय दिल्ली-एनसीआर में होगा. जबकि कॉरपोरेट ऑफिस गुरुग्राम में होगी. जेट एयरवेज का हालांकि मुंबई में भी अच्छी खासी उपस्थिति होगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com