कोरोनो वायरस संक्रमण के चलते लाल किले पर सादगी से होगा स्वतंत्रता दिवस समारोह

समारोह में शामिल होने वाले गणमान्य लोगों की सूची बहुत छोटी होगी, समारोह स्थल पर कुर्सियां छह-छह फीट की दूरी पर लगाई जाएंगी

कोरोनो वायरस संक्रमण के चलते लाल किले पर सादगी से होगा स्वतंत्रता दिवस समारोह

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

इस साल कोरोनो वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) समारोह सादगी से मनाया जाएगा. स्कूली बच्चे 15 अगस्त को होने वाले इस आयोजन का हिस्सा नहीं होंगे. समारोह में शामिल होने वाले गणमान्य लोगों की सूची बहुत छोटी होगी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने एनडीटीवी को बताया कि "कोरोनोवायरस के कारण आमंत्रितों की संख्या काफी कम की गई है. यहां तक ​​कि समारोह स्थल पर कुर्सियां छह-छह फीट की दूरी पर लगाई जा रही हैं."

अधिकारी के अनुसार इस साल किला एक अगस्त से जनता के लिए बंद हो जाएगा. किले में स्वच्छता और स्वतंत्रता दिवस की तैयारी की जाएगी.स्कूल के बच्चों द्वारा कोई प्रदर्शन नहीं किया जाएगा. इसके बजाय कुछ एनसीसी कैडेटों को आमंत्रित किया जाएगा. सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखा जाएगा, और कर्मचारी पीपीई किट में होंगे.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 अगस्त को 74 वें स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली के लाल किले में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे और भाषण देंगे. लाल किले पर समारोह में सशस्त्र बल और दिल्ली पुलिस प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर देंगे. ध्वजारोहण के साथ 21 गन की सलामी दी जाएगी. प्रधानमंत्री के भाषण के तुरंत बाद राष्ट्रगान होगा और अंत में त्रिकोणीय रंगीन गुब्बारे छोड़े जाएंगे. गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भी इस आयोजन को लेकर सलाह दी है. इस मौके पर राष्ट्रपति भवन में निश्चित रूप से 'एट होम' रिसेप्शन होगा. हालांकि गृह मंत्रालय ने 'एट होम' रिसेप्शन का कोई कार्यक्रम विवरण साझा नहीं किया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सभी राज्यों को स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान "आत्मनिर्भर भारत" की थीम पर जोर देने के लिए कहा गया है. 
गृह मंत्रालय ने 15 अगस्त को विभिन्न कार्यक्रमों या गतिविधियों के आयोजन के दौरान COVID-19 महामारी को देखते हुए शर्तों और उपायों का पालन करने के लिए कहा है. कहा गया है कि सभी कार्यक्रमों के आयोजन में यह सुनिश्चित किया जाए कि लोगों की बड़ी भीड़ एकत्रित न हो. यथासंभव प्रौद्योगिकी का उपयोग किया जाए. बड़ी संख्या में लोगों तक पहुंचने के लिए कार्यक्रमों को वेबकास्ट किया जा सकता है. कहा गया है कि डॉक्टरों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और कोरोना वायरस से उबरने वाले लोगों को विशेष निमंत्रण भेजते हुए सलाह दी जाए. समारोह में डॉक्टरों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, स्वच्छता कार्यकर्ताओं जैसे कोविड -19 योद्धाओं को कोरोनो वायरस के खिलाफ लड़ाई में उनकी महान सेवा को मान्यता देते हुए आमंत्रित किया जाना चाहिए.