गंगोत्री हाईवे ब्लॉक, उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में भूस्खलन के बाद आई आफत

उत्तरकाशी जिले (Uttarkashi district of Uttarakhand) में लगातार हो रही बारिश के कारण सुखी टॉप एरिया के पास लैंडस्लाइड (Landslide) हुआ. इस कारण सड़क पर पहाड़ से एक बड़ा मलबा आकर गिरा.

गंगोत्री हाईवे ब्लॉक, उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में भूस्खलन के बाद आई आफत

गंगोत्री हाईवे उत्तरकाशी जिले के सुखी टॉप एरिया के पास बाधित हुआ

उत्तरकाशी:

Gangotri Highway : उत्तराखंड में बारिश के इस मौसम में भूस्खलन की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. ताजा वाकया मंगलवार को हुआ, जब उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले (Uttarkashi district of Uttarakhand) में लगातार हो रही बारिश के कारण सुखी टॉप एरिया के पास लैंडस्लाइड (Landslide) हुआ. इस कारण सड़क पर पहाड़ से एक बड़ा मलबा आकर गिरा. हालांकि समय रहते वहां सभी को सतर्क किए जाने के कारण जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है. उत्तरकाशी आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने यह जानकारी दी है. उत्तराखंड के साथ हिमाचल प्रदेश में भी लैंडस्लाइड की भी घटनाएं हुई हैं. 

उत्तराखंड में 23 अगस्त को एक पहाड़ का एक बड़े हिस्से ने राष्ट्रीय राजमार्ग 9 के टनकपुर-चंपावत खंड को जाम कर दिया था. स्वाला के पास गीले मलबे के साथ चट्टान और मिट्टी ढलान से नीचे भरभराते हुए आ गई थी. इस कारण पहाड़ी इलाकों की सड़कों पर ट्रैफिक जाम हो गया था. एक वीडियो में कारों के ड्राइवरों को यूटर्न लेने के लिए मेहनत करते हुए देखा जा सकता है. जाम से परेशान तमाम यात्री और स्थानीय लोग अपने वाहनों को छोड़कर मौके से चले गए.


हिमाचल प्रदेश में भी पिछले कुछ महीनों में भूस्खलन की कई घटनाएं हुई हैं. हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भूस्खलन (Kinnaur Landslide) की बड़ी घटना हुई थी, जिसमें 15 लोग मारे गए थे. जबकि 13 लोगों को सुरक्षित बचाया गया था.
एनडीआरएफ, आईटीबीपी, पुलिस और होमगार्ड ने वहां पर बचाव अभियान चलाया था. इस भूस्खलन की चपेट में हिमाचल सड़क परिवहन निगम की एक बस और एक बोलेरी आ गई थी. बस बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई थी और जबकि एक बोलेरो का तो मलबा भी तब नहीं खोजा जा सका था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com