पंजाब चुनाव से पहले अवैध बालू खनन मामले में CM चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर ED की छापेमारी

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के भतीजे भूपिंदर सिंह हनी के घर के साथ पंजाब में 10 अन्य जगहों पर आज सुबह तलाशी ली गई.

नई दिल्ली:

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले राज्य के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के भतीजे के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई की है. प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने अवैध रेत खनन (Illegal Sand Mining) के सिलसिले में CM चन्नी के भतीजे भूपिंदर सिंह हनी और अन्य के ठिकानों पर मंगलवार को छापेमारी की.

भूपिंदर सिंह हनी के घर के साथ पंजाब में करीब 10 से 12 अलग-अलग जगहों पर आज सुबह से छापेमारी की जा रही है. ईडी के अधिकारी धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत कार्रवाई कर रहे हैं. प्रवर्तन निदेशालय से इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है. 

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, ऐसा कहा जा रहा है कि राजनीतिक संपर्क रखने वाले कुछ लोगों के ठिकानों पर भी छापेमारी की जा रही है.

छापेमारी की यह कार्रवाई ऐसे समय हो रही है कि जब पंजाब में चुनाव अभियान जोरों पर है. पंजाब में 20 फरवरी को मतदान होना है और वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी.

अवैध रेत खनन का मुद्दा पंजाब के चुनावी अभियान में सबसे चर्चित बिंदुओं में से एक है. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस पर अवैध बालू खनन के कारोबार से जुड़ा होने का आरोप लगाया है. 

READ ALSO: "रेत माफिया हैं चरनजीत चन्नी": आप ने सीएम के विधानसभा क्षेत्र में मुआयना कर लगाए आरोप

अमरिंदर सिंह ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस के विधायक गैरकानूनी तरीके से रेत का खनन करने में शामिल हैं. पिछले महीने उन्होंने कहा था, "अगर मैं नाम बताना शुरू करूं दूं तो मुझे ऊपर से नाम बताना शुरू करना होगा."

सिंह ने संवाददाताओं को यह भी बताया था कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अवैध रेत खनन में शामिल विधायकों के बारे में बताया था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पंजाब में कांग्रेस के लिए कड़ी चुनौती बनकर उभरी आम आदमी पार्टी (आप) भी मुख्यमंत्री चन्नी के निर्वाचन क्षेत्र में अवैध बालू खनन के आरोपों को लेकर उन पर निशाना साधती रही है.