दिल्ली : यमुना में नहाने गए तीन बच्चों की डूबने से मौत, मृतकों के घरों में पसरा मातम

दिल्ली (Delhi) के भजनपुरा इलाके के रहने वाले तीन बच्चों की यमुना में डूबकर मौत हो गई. हालांकि एक को तुरंत मौके पर ही बचा लिया गया. घटना की जानकारी मिलने के बाद प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और उसने तीनों के शवों को बाहर निकलवाया. 

दिल्ली : यमुना में नहाने गए तीन बच्चों की डूबने से मौत, मृतकों के घरों में पसरा मातम

यमुना में नहाने के लिए पहुंचे तीन बच्चों की डूबने से मौत हो गई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

Yamuna Drowning : बारिश के मौसम में नदी-नालों में नहाना कई बार जानलेवा साबित होता है. कई बार लोगों की डूबने से मौत के मामले आते रहते हैं. दिल्ली (Delhi) में भी ऐसा ही एक दर्दनाक मामला सामने आया है. उत्तरी दिल्ली के वजीराबाद (Wazirabad) में यमुना में नहाने के लिए आए तीन बच्चों की डूबने के कारण मौत हो गई. वजीराबाद में यमुना नदी में नहाने के लिए पहुंचे तीन बच्चों के परिजनों ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि अब उनके घर के चिराग वापस लौटकर नहीं आएंगे. दिल्ली के भजनपुरा इलाके के रहने वाले तीन बच्चों की यमुना में डूबकर मौत हो गई. 

स्कूल में बच्चों को धर्म के आधार पर बांटने वाले प्रिंसिपल को किया गया सस्पेंड

भजनपुरा से चार बच्चे यमुना में नहाने के लिए पहुंचे थे. अचानक ये बच्चे गहरे पानी में चले गए और डूबने लगे. हालांकि एक को तुरंत मौके पर ही बचा लिया गया. घटना की जानकारी मिलने के बाद प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और उसने तीनों के शवों को बाहर निकलवाया. इस घटना की सूचना मृतक बच्चों के परिजनों के घर पर पहुंची तो कोहराम मच गया. उनके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है और वह अब उस घड़ी को कोस रहे हैं, जिसमें बच्चे नहाने के लिए यमुना नदी गए थे. 

बोट क्लब इंचार्ज हरीश कुमार ने कहा कि तीनों लाशों को निकाल लिया गया है. मृतकों की पहचान पंकज ( 15 ), सुमित (13), समीर (16) है, जबकि बंटी को सकुशल बाहर निकाल लिया गया। मोटर बोट और गोताखोरों की मदद से शवों को निकाला गया है।पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस आसपास में लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद से हादसे का कारण जानने का प्रयास कर रही है

खबरों के मुताबिक,  पंकज सुमित और दो भाई समीर और बंटी चारों बृजपुर इलाके में रहते हैं. सुबह के वक्त घर से पार्क में घूमने के लिए निकले थे. फिर वो यमुना वजीराबाद पुल पर पहुंच गए और वहां नहाने लगे और चारों अचानक पानी में डूबने लगे. जानकारी मिलते ही बोट क्लब इंचार्ज और पुलिस को दी गई मौके पर पहुंचे बोट क्लब इंचार्ज हरीश कुमार ने गोताखोरों और मोटर बोट को लगा कर बचाव कार्य शुरू किया. इसमें पंकज सुमित और समीर के लाशों को बाहर निकाला गया.

जबकि बंटी को सकुशल निकाल लिया गया है. तीन बच्चों की मौत की खबर सुनते ही पूरे बृजपुरी में कोहराम मच गया. तीनों आपस में बहुत अच्छे दोस्त थे और सुबह पार्क के लिए घूमने जाते थे, लेकिन किसी को क्या पता कि वह पार्क के बहाने यमुना में नहाने चले जाएंगे और उनकी मौत हो जाएगी. पंकज के परिवार में माता-पिता तीन बहन हैं.


तीनों बहनों के बीच अकेला भाई था. पंकज 11वीं क्लास में पढ़ रहा था. वही सुमित कक्षा छठी क्लास में पढ़ रहा था. उसके परिवार में माता-पिता के अलावा दो भाई हैं.  जबकि समीर 10वीं क्लास में पढ़ रहा था और उसके परिवार में एक भाई और एक बहन है. समीर अपने भाई बंटी के साथ जमुना गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com