दिल्ली को लगातार तीसरे दिन नहीं मिली तय Oxygen सप्लाई, 700 मीट्रिक टन की जरूरत

Delhi Oxygen Crisis: सुप्रीम कोर्ट का स्पष्ट निर्देश है कि केंद्र सरकार को दिल्ली को 700 MT ऑक्सीजन रोज़ाना देनी ही होगी.इससे पहले सात मई को दिल्ली को 487 मीट्रिक टन, 6 मई को 577 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई.

दिल्ली को लगातार तीसरे दिन नहीं मिली तय Oxygen सप्लाई, 700 मीट्रिक टन की जरूरत

Delhi Oxygen Shortage:सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली को रोजाना 700 MT oxygen देने का आदेश दिया था 

नई दिल्ली:

Delhi Medical Oxygen Shortage: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद लगातार तीसरे दिन तय मात्रा में दिल्ली को ​ऑक्सीजन सप्लाई नहीं मिली है. कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए अस्पतालों में इस मेडिकल ऑक्सीजन की दरकार होती है. दिल्ली सरकार की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, 8 मई को 499 MT (मीट्रिक टन) दिल्ली को ऑक्सीजन की ही सप्लाई हुई, जो कि जरूरत से करीब 200 मीट्रिक टन कम है. सुप्रीम कोर्ट का स्पष्ट निर्देश है कि केंद्र सरकार को दिल्ली को 700 MT ऑक्सीजन रोज़ाना देनी ही होगी.इससे पहले सात मई को दिल्ली को 487 मीट्रिक टन, 6 मई को 577 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई थी.

रिकॉर्ड 718 टन मेडिकल ऑक्सीजन लेकर रवाना हुईं ऑक्सीजन एक्सप्रेस,यूपी-हरियाणा को सबसे बड़ी खेप

दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद दिल्ली को सिर्फ एक दिन 5 मई को 730 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई थी. इसको लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार भी जताया था. जानकारी के मुताबिक, 8 मई को दिल्ली सरकार के पास केवल 4 आपात संदेश ऑक्सीजन संकट को लेकर आए थे. Oxygen की कमी को लेकर दिल्ली में हाहाकार की स्थिति है, क्योंकि कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए इसकी जरूरत होती है.

सांस लेने में तकलीफ झेल रहे मरीजों की जान बचाने के लिए ऑक्सीजन की मांग अस्पतालों में बढ़ती जा रही है.दिल्ली हाईकोर्ट ने राजधानी को पर्याप्त मेडिकल ऑक्सीजन (Delhi Medical Oxygen Shortage)की आपूर्ति न करने को लेकर केंद्र सरकार को अवमानना का नोटिस भेजा था, जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी थी. हालांकि उसने केंद्र सरकार से दिल्ली को उसके कोटे की 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन देने का निर्देश दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन की उपलब्धता और राज्यों के बीच इसके बंटवारे को लेकर 12 सदस्यीय नेशनल टॉस्कफोर्स का भी गठन किया है. 

पिछले सात दिनों की औसत की बात करें तो दिल्ली को रोजाना 533 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है. यह तय ऑक्सीजन मात्रा का 76 फीसदी है. सिर्फ 5 मई को दिल्ली को 730 मीट्रिक टन ऑक्सीजन केंद्र सरकार से मिली थी. शनिवार को भी दिल्ली में ऑक्सीजन का संकट देखा गया था, जब चार अस्पतालों ने मेडिकल ऑक्सीजन की कमी होने पर आपात संदेश भेजा था. दिल्ली सरकार ने उन्हें 15.5 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति भेजी थी.


कब कितनी ऑक्सीजन मिली
8 मई-499MT
7 मई- 487 MT
6 मई- 577 MT
5 मई- 730 MT
4 मई- 555 MT
3 मई- 434 MT
2 मई- 448 MT
1 मई- 442 MT

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली में 17 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, सोमवार से नहीं चलेगी मेट्रो