सुप्रीम कोर्ट के जजों को मंगलवार से लगेगा कोरोना का टीका, वैक्‍सीन का चयन करने की दी गई छूट..

सुप्रीम के न्‍यायाधीशों के अलावा उनके परिवार वालों को भी वैक्‍सीन लगेगी. सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री ने सुप्रीम कोर्ट परिसर में वैक्सीन का इंतजाम किया है.

खास बातें

  • न्‍यायाधीशों के परिजनों को भी लगेगा टीका
  • लिस्‍टेड अस्‍पताल या सुप्रीम में लगवा सकेंगे टीका
  • कोविशील्‍ड या कोवैक्‍सीन, इसका चुनाव कर सकेंगे
नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के जजों को भी लगेगी कोरोना से बचाव के लिए वैक्‍सीन (Covid-19 vaccine) लगाई जाएगी. मंगलवार से यह टीकाकरण शुरू होगा. सुप्रीम के न्‍यायाधीशों के अलावा उनके परिवार वालों को भी वैक्‍सीन लगेगी. सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री ने सुप्रीम कोर्ट परिसर में वैक्सीन का इंतजाम किया है. सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जजों और उनके परिवारों के लिए भी वैक्सीन का इंतजाम किया है. सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री ने जजों के सचिवों को यह जानकारी दी है, इसके मुताबिक, जज और उनका परिवार किसी भी लिस्टेड अस्पताल या सुप्रीम कोर्ट में टीकाकरण करा सकते  हैं. इन्‍हें कोविशील्ड और कोवैक्सीन के बीच चुनाव करने की छूट दी गई है. जानकारी में ये भी कहा गया है कि टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण दिशानिर्देशों के अनुसार चार्ज देना होगा.

लॉकडाउन लगाना नहीं चाहता हूं लेकिन 'मजबूरी' भी कुछ है : उद्धव ठाकरे

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीनेशन (Covid-19 Vaccination) अभियान का दूसरा चरण सोमवार से शुरू हुआ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने भी वैक्सीन की पहली डोज ली. पीएम मोदी सुबह-सुबह दिल्ली एम्स (Delhi AIIMS) पहुंचे और वैक्सीन की पहली खुराक ली. उन्होंने देशवासियों से वैक्सीन लगवाने की अपील भी की है. उन्होंने ट्वीट करके कहा कि  'मैंने एम्स में कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली, यह तारीफ के काबिल है कि कैसे हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूती देने के लिए तेजी से काम किया. उन्होंने कहा, 'मैं सभी से अपील करता हूं जो भी वैक्सीन लगवाने के योग्य है, वह भारत को कोरोना मुक्त बनाने में साथ आए.' 


अफवाह बनाम हकीकत : प्राइवेट सेक्टर के आने से टीकाकरण अभियान को मिलेगी रफ्तार? जानिए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com