'रिश्वत लेकर दे रहे बेड'- BJP सांसद तेजस्वी सूर्या के आरोपों से घिरी उनकी ही पार्टी

सांसद सूर्या ने आरोप लगाया है कि 'बीबीएमपी अधिकारी और फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर का एक गिरोह' बिना आईसीयू केयर मिले मर रहे लोगों के हिस्से के बेडों को 'खरीदने' की साजिश कर रहे हैं.

'रिश्वत लेकर दे रहे बेड'- BJP सांसद तेजस्वी सूर्या के आरोपों से घिरी उनकी ही पार्टी

कांग्रेस ने भी तेजस्वी सूर्या के आरोपों पर प्रतिक्रिया दी है.

बेंगलुरु :

बेंगलुरु दक्षिण से भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने महानगरपालिका अधिकारियों पर रिश्वत लेकर अस्पतालों में बेड देने का आरोप लगाया है, इसके बाद दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि अन्य से पूछताछ की जा रही है. जिन्हें गिरफ्तार किया गया है, उनकी पहचान रोहित और नेत्रा के रूप में हुई है. वे एक बेड के लिए कथित तौर पर 25 हजार से 50 हजार रुपए वसूलते थे. पुलिस ने उनके बैंक अकाउंट से 1.05 लाख रुपए बरामद किए हैं.

सांसद सूर्या ने आरोप लगाया है कि 'बीबीएमपी अधिकारी और फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर का एक गिरोह' बिना आईसीयू केयर मिले मर रहे लोगों के हिस्से के बेडों को 'खरीदने' की साजिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा, 'बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका की वेबसाइट पर सारे बेड फुल दिख रहे हैं. कई लोग अस्पतालों से डिस्चार्ज हो रहे हैं, लेकिन बीबीएमपी का कहना है कि सारे बेड बुक हैं. बीबीएमपी अधिकारियों, अस्पतालों में अरोग्य मित्र (एक फ्रंटलाइन हेल्थ सर्विस) के लोग और बाहर कुछ लोगों का एक गिरोह चल रहा है.'

कर्नाटक के अस्पताल में दो घंटे के भीतर 24 मरीज़ों की मौत, कुछ मरीज़ थे COVID-19 पॉज़िटिव

साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि होम आइसोलेशन में अपना इलाज करा रहे लोगों के नाम पर शुरुआत में बेड रिजर्व किए जाते हैं, जिनकी उन मरीजों को जानकारी ही नहीं होती. बाद में वे जब अस्पताल में भर्ती नहीं होते हैं तो वे बेड अपने आप 'ऑटो अन-ब्लॉक' हो जाते हैं. साथ ही उन्होंने दावा किया कि ऐसे कई हजारों केसों में हुआ है. इसके बाद बीबीएमपी अधिकारी इन बेडों को खरीदने वाले ढूंढ़ते हैं.

बीजेपी सांसद ने कहा, 'यह सबसे घृणित है जो एक महामारी के दौरान हो सकता है.' मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई का वादा किया है. हालांकि, अभी तक बीबीएमपी ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में अब तक सबसे ज्यादा 3,780 मरीजों की मौत, 3.82 लाख नए केस दर्ज

बेंगलुरु पुलिस प्रमुख कमल पंत ने कहा कि मामले को सेंट्रल क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है.  उन्होंने कहा, 'बीपीएमपी के पोर्टल पर कोरोना मरीजों के लिए बेड के अलॉटमेंट में कथित तौर पर हुई धोखाधड़ी के मामले में जयनगर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है. इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि अन्यों से पूछताछ की जा रही है.' पुलिस का कहना है कि बीबीएमपी का एक अधिकारी के शामिल होने की संभावना थी, क्योंकि बेड का आवंटन इसके बिना नहीं हो सकता. 

बता दें, बेंगलुरु महानगरपालिका में सबसे ज्यादा सदस्य भाजपा के ही हैं, ऐसे में सूर्या ने अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाए हैं. बेंगलुरु के मेयर गौतम कुमार भाजपा के ही पार्षद हैं. कांग्रेस ने इस मौके को गंवाए बिना प्रतिक्रिया दी है.


कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने ट्वीट किया है, 'मैं सांसद तेजस्वी सूर्या, विधायक सतीश रेड्डी, रवि सुब्रमण्य और उदय गरुड़चर को उनकी पार्टी और नगर निकाय की द्वारा बेड आवंटन में किए जा रहे भ्रष्टाचार के खुलासे पर बधाई देना चाहता हूं.' साथ ही शिवकुमार ने कहा, 'बीबीएमपी किसके नियंत्रण में है? उन्हें तुरंत उस भाजपा मंत्री का नाम बताना चाहिए था, जो इसके लिए जिम्मेदार हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बेंगलुरु : आरका अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से दो मरीजों की मौत