दिल्ली में 72 लाख लोगों को 2 महीने का मुफ्त राशन, ऑटो-टैक्सीचालकों को 5 हजार की मदद : CM केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना संकट के बीच मंगलवार को ऐलान किया है कि 'दिल्ली में 72 लाख लोगों को 2 महीने राशन मुफ्त दिया जाएगा.'

दिल्ली में 72 लाख लोगों को 2 महीने का मुफ्त राशन, ऑटो-टैक्सीचालकों को 5 हजार की मदद : CM केजरीवाल

दिल्ली में लॉकडाउन के बीच दिल्ली सरकार ने राहत देने की घोषणा की. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना संकट के बीच मंगलवार को ऐलान किया है कि 'दिल्ली में 72 लाख लोगों को 2 महीने राशन मुफ्त दिया जाएगा.' उन्होंने एक डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि 'अब दिल्ली में जितने भी 72 लाख राशन कार्ड धारक हैं उनको अगले 2 महीने के लिए मुफ्त राशन दिया जाएगा. इसका मतलब यह नहीं कि लॉकडाउन अगले 2 महीने चलेगा, लेकिन जिस आर्थिक तंगी से गरीब आदमी जूझ रहा है उसकी मदद करने के लिए अगले 2 महीने के लिए सरकार ने मुफ्त राशन देने का फैसला किया है.'

उन्होंने कहा कि 'दिल्ली में जितने भी ऑटो टैक्सी चालक हैं, उनके अकाउंट में ₹5000 दिल्ली सरकार देगी. इसे इस आर्थिक तंगी के दौर में उनको मदद मिलेगी. 1,56,000 ऐसे ऑटो टैक्सी ड्राइवर की मदद पिछली बार की थी ऐसे सभी लोगों को इस बार की मदद मिलेगी.'

'दिल्ली को अब भी नहीं मिल रही पर्याप्त ऑक्सीजन': मनीष सिसोदिया ने बताया- डिमांड बढ़ गई लेकिन सप्लाई नहीं


केजरीवाल ने बताया कि 'कोरोना से निपटने के लिए दिल्ली में हमने लॉकडाउन लगाया है. यह इसलिए लगाया गया था कि चेन टूटता के मामलों में कमी आ सके. लॉकडाउन उन लोगों के लिए आर्थिक संकट पैदा कर देता है जो रोज कमाते हैं रोज खाते हैं. पिछले हफ्ते हमने मजदूरों के लिए ऐलान किया था कि हर मजदूर के अकाउंट में पांच ₹5000 डाले जाएंगे, डाले गए हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने अपील की कि 'इस समय कोई किसी भी पार्टी का हो सब लोग आपस में मिलकर एक दूसरे की मदद करें इस वक्त कोई राजनीति नहीं करनी है चाहे किसी भी धर्म या जाति के हो चाहे अमीर हो या गरीब हो सब एक दूसरे की मदद करें. अगर किसी को अस्पताल नहीं मिल रहा है तो उसको अस्पताल दिलवाने में मदद करें अगर किसी को बेड नहीं मिल रहा तो उसको बेड दिलवाने में मदद कर सकते हैं. किसी के घर में कोई बीमार है तो उसको खाना खिलाने में या उनके घर खाना पहुंचाने में मदद कर सकते हैं. गरीब लोगों को आर्थिक मदद की जा सकती है. अगर हम सब मिलकर इस से लड़ेंगे तो मुझे उम्मीद है कि बहुत जल्द हम कोरोना से जीत पाएंगे.'