भारत मे कोरोना के टीके ने बचाई हजारों की जान, एक स्टडी में हुआ खुलासा : डॉ. वीके पॉल

भारत से हेल्थकेयर वर्कर्स पर स्टडीज आयी हैं. स्टडी बताती है कि वैक्सीन लगने के बाद अगर इंफेक्शन हो जाय तो 75 से 80 फीसदी अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ती है.

भारत मे कोरोना के टीके ने बचाई हजारों की जान, एक स्टडी में हुआ खुलासा : डॉ. वीके पॉल

स्कूल खोलने के मुद्दे पर डॉक्टर वीके पॉल ने कहा कि बच्चे संक्रमित हो रहे हैं.

नई दिल्ली:

नीति आयोग के सदस्‍य वीके पॉल वीके पॉल ने शुक्रवार को एक स्टडी का हवाला देते हुए कहा कि भारत में कोरोना के टीके ने हजारों की जान बचाई है. उन्होंने कहा कि भारत से हेल्थकेयर वर्कर्स पर स्टडीज आयी हैं. स्टडी बताती है कि वैक्सीन लगने के बाद अगर इंफेक्शन हो जाय तो 75 से 80 फीसदी अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ती है. ऑक्सीजन की जरूरत 8 फीसदी की ही जरूरत पड़ती है. जबकि आईसीयू में सिर्फ 6 फीसदी जाने की नौतब आती है.

कोरोना केस घटने से प्रतिबंध घटेंगे लेकिन चौकस रहें, लापरवाही बिल्‍कुल न हो : वीके पॉल

वीके पॉल ने कहा कि इसलिए वैक्सीन को लगवाइए, ये बेहद जरूरी है. डेटा बताता है कि वैक्सीन हजारों की जिंदगी बचा रही है. वहीं, बच्चों की एम्स और डब्ल्यूएचओ की सर्वे पर ये पाया गया कि सीरो पॉजिटिविटी बड़ों जितनी बच्चों में भी रही है. उन्होंने कहा कि तैयारी के तौर पर कमी नहीं होगी. वहीं उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन में नई गाइडलाइन के हिसाब से 21 जून से काम होगा. निजी सेक्टर की भूमिका चिन्हित है. उनका रोल तय है.

स्कूल खोलने के मुद्दे पर क्या बोले वीके पॉल?

स्कूल खोलने के मुद्दे पर डॉक्टर वीके पॉल ने कहा कि बच्चे संक्रमित हो रहे हैं. वायरस अगर रूप बदलता है तो कहां जा सकता है पता नहीं. तैयारी रखनी चाहिए. हमें जागरूक रहना है. प्रोटेक्शन में कमी नहीं होनी चाहिए. स्कूल खोलने पर कई चीजों पर ध्यान रखना चाहिए ये अलग आस्पेक्ट है. स्कूल में टीचर, हेल्पर्स हैं सोशल डिस्टेंसिंग कम हो जाती है. इन सब मुद्दों पर विचार करना चाहिए. बाहर के देशों में स्कूल खुले. लेकिन बाद में बंद करना पड़ा. लेकिन ये आस्पेक्ट है इसपर ध्यान में रखा जाएगा जब चर्चा होगी तो. जब तक कि कॉन्फिडेंस न बढ़े तब तक हम खतरे में नहीं डाल सकते.

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर सुस्त पड़ती हुई नजर आ रही है. कोविड-19 के नए मामलों में लगातार गिरावट आ रही है. साथ ही एक्टिव केसों की संख्या भी नीचे आ रही है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 62,480  नए मामले दर्ज किए गए हैं. इस दौरान 1,587 मरीजों की घातक वायरस की वजह से मौत हुई है. पिछले कुछ दिनों से कोरोना से होने वाली मौत के आंकड़ों में कमी देखी जा रही है. 

नए मामले सामने के बाद देश में संक्रमण के कुल मामले 2 करोड़ 97 लाख के पार (2,97,62,793) पार पहुंच गए हैं. अब तक संक्रमण की वजह से कुल 3,83,490 मरीजों की मौत हुई है. वहीं, कोरोना को मात देने में कामयाब रहे लोगों की संख्या देश में 2 करोड़ 85 लाख से ऊपर (2,85,80,647) है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में नए मामलों के मुकाबले ठीक होने वालों मरीजों की संख्या लगातार 36वें दिन अधिक है. पिछले 24 घंटे में 88,977 मरीज ठीक हुए हैं. इसी के साथ एक्टिव केस की संख्या में आई है. 73 दिन बाद एक्टिव केस 8 लाख के नीचे (7,98,656) आ गए हैं.


वैक्सीन की पहली खुराक देने में भारत ने अमेरिका को पछाड़ा, अब तक इतने लोगों को पहली डोज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पॉजिटिविटी रेट यानी संक्रमण दर में भी गिरावट देखी जा रही है. यह 3.24 प्रतिशत पर है. लगातार 11वें दिन संक्रमण दर 5 प्रतिशत के नीचे है. पिछले 24 घंटों में 32,49,003 टीके दिए गए हैं. अब तक कुल वैक्सीन की 26,89,60,399 डोज दी जा चुकी है. टेस्टिंग की बात करें तो एक दिन में 19,29,476 टेस्ट हुए हैं.