30 लाख शादियों पर कोरोना से संकट, यूपी में जाकर शादी का कार्यक्रम करने को मजबूर दिल्ली के लोग

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उन लोगों के लिए बड़ी मुश्किल है जो शादी की तैयारी कर चुके हैं और कई जगहों पर ऐडवांस पैसा भी दे चुके हैं. दिल्ली के बैंक्वेट हॉल और टेंट हाउस से जुड़े तमाम लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है.

30 लाख शादियों पर कोरोना से संकट, यूपी में जाकर शादी का कार्यक्रम करने को मजबूर दिल्ली के लोग

CAIT का दावा है कि हॉल, होटल, फूल और टेंट हाउस से जुड़े 3 लाख करोड़ का नुकसान होने का अनुमान है.

नई दिल्ली:

कोरोना के बढ़ते मामलों ने बड़े पैमाने पर शादियों पर असर डाला है. देशभर में जनवरी से लेकर मार्च तक करीब 30 लाख शादियां होनी हैं. अब कोरोना ने इन शादियों का भी बजट बिगाड़ दिया है. आलम ये है कि दिल्ली के रहने वाले लोग पाबंदियों के चलते यूपी में जाकर अपने बच्चों की शादियां कराने की सोच रहे हैं. कारण, दिल्ली में शादी समारोह में सिर्फ 20 लोग शामिल हो सकते हैं. कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच उन लोगों के लिए सबसे बड़ी मुश्किल है जो शादी की तैयारी कर चुके हैं और कई जगहों पर ऐडवांस पैसा भी दे चुके हैं. वहीं दिल्ली के बैंक्वेट हॉल और टेंट हाउस से जुड़े तमाम लोगों के सामने भी रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है. जिसके चलते वह केजरीवाल सरकार से लिमिटेड गैदरिंग की इजाजत देने की अपील कर रहे हैं.

दिल्ली में 5481 नए कोरोना केस मिले, पॉजिटिविटी रेट 8.37 फीसदी तक पहुंची

दिल्ली के प्रीत विहार में रहने वाले रजत कुमार की बेटी की शादी 23 जनवरी को है. उन्होंने दिल्ली का बैंक्वेट हॉल बुक करा दिया था. लेकिन कोरोना के चलते बैक्वेट बंद हो चुका है. अब वो यूपी में बैक्वेट हॉल खोज रहे हैं ताकि बेटी की शादी हो पाए. कड़कड़डूमा कोर्ट के वकील रजत कुमार ने बताया कि मेरी सबसे बड़ी समस्या ये है कि अब मैं इस वक्त कहां जाऊं. सभी मेहमानों को बुला चुका हूं. अब मैं कहां उनके लिए व्यवस्था करुं. 

बता दें कि दिल्ली में 1000 से ज्यादा बैंक्वेट हॉल और टेंट हाउस हैं. कड़कड़डूमा में गुरमीत बैंक्वेंट हॉल में मंगलवार को एक जन्मदिन पार्टी थी. लेकिन अब यहां सन्नाटा छाया हुआ है. 9 जनवरी को भी शादी की बुकिंग है, लेकिन अब जनवरी तक की शादियों के लिए फिलहाल बैक्वेट हॉल बंद कर दिया गया. पूर्वी दिल्ली टेंट हाउस फेडरेशन के प्रेसीडेंट गुरमीत सिंह ने बताया कि हम तो सरकार से अपील कर रहे हैं कि दो साल से ये पूरी इंडस्ट्री बरबाद हो चुकी है. सरकार लिमिटेड गैदरिंग की इजाजत दे. 

कोरोना : महाराष्ट्र में शादी और सामाजिक समारोहों में अब इतने ही लोग आ सकेंगे, जानें नई गाइडलाइंस

उधर, कॉन्फेडरेशन आफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) का दावा है कि जनवरी से लेकर मार्च तक में देशभर में हो रही करीब 30 लाख शादियों पर कोरोना का असर होगा. इससे बैंक्वेट हॉल, होटल, फूल और टेंट हाउस से जुड़े 3 लाख करोड़ का नुकसान होने का अनुमान है. CAIT महासचिव प्रवीण खांडेलवाल ने बताया कि इससे बहुत बड़ा असर पड़ेगा. व्यापार पर दो साल से धंधा सारा चौपट हो गया. अब ऐसे में सरकार को एहतियात से लॉकडाउन लगाना चाहिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्‍ली में वीकेंड कर्फ्यू लगाने का फैसला, बढ़ते कोरोना केसों के चलते DDMA की बैठक में निर्णय: सूत्र