ब्रिटेन ने नीरव मोदी को गिरफ्तार करने के लिए दस्तावेज मांगे, भारत ने नहीं दिया जवाब : सूत्र

NDTV को लंदन में सीरियस फ्रॉड ऑफिस से पता चला है कि पहली बार भारत ने ब्रिटेन को फरवरी 2018 में म्यूचुअल लीगल असिस्टेंस ट्रीटी (MLAT) के तहत अलर्ट भेजा था

ब्रिटेन ने नीरव मोदी को गिरफ्तार करने के लिए दस्तावेज मांगे, भारत ने नहीं दिया जवाब : सूत्र

सूत्रों के मुताबिक भगोड़ा हीरा व्यापारी नीरव मोदी को गिरफ्तार करने के लिए ब्रिटेन ने दस्तावेज मांगे थे लेकिन भारत ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

खास बातें

  • यूके की एक कानूनी टीम मदद के लिए भारत आना चाहती थी
  • इस पेशकश पर भारत से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली
  • मनी लांड्रिंग रोधी कानून के तहत एक अनुपूरक आरोप पत्र दायर
नई दिल्ली:

भगोड़ा हीरा व्यापारी नीरव मोदी ( Neerav Modi ) पिछले सप्ताह लंदन (London) की सड़कों पर कुछ अलग दिखाई दिया. वह शुतुरमुर्ग के चमड़े की असाधारण जैकेट पहने हुए था. सरकार ने जोर देकर कहा कि उसके खिलाफ मुकदमा चलाने और उसे प्रत्यर्पित करने के प्रयासों में भारत की ओर से कोई देरी नहीं हुई. NDTV को पता चला है कि इन दावों के विपरीत वास्तव में, यूके (UK) की एक कानूनी टीम ने भी नीरव मोदी के खिलाफ कार्रवाई में मदद करने के लिए भारत आने की पेशकश की, लेकिन कथित तौर पर भारत से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली.

NDTV को लंदन के सीरियस फ्रॉड ऑफिस से पता चला है कि पहली बार भारत ने ब्रिटेन (Britain) को जो अलर्ट भेजा था, वह फरवरी 2018 में म्यूचुअल लीगल असिस्टेंस ट्रीटी (MLAT) के तहत था. यह सीबीआई द्वारा नीरव मोदी ( Neerav Modi ) और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ पंजाब नेशनल बैंक घोटाले (PNB Scam) में 13,000 करोड़ रुपये की कर चोरी के आरोप में पहली बार आपराधिक मामला दर्ज करने के तुरंत बाद भेजा गया था.

इस बीच भारत में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले में आरोपी नीरव मोदी ( Neerav Modi) के खिलाफ मनी लांड्रिंग रोधी कानून के तहत एक अनुपूरक आरोप पत्र दायर किया है. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी.

राहुल गांधी बोले- अगर हम नीरव मोदी को पकड़े तो उसके सारे पैसे गरीबों में बांट देंगे

अधिकारियों ने बताया कि हीरा कारोबारी तथा अन्य के खिलाफ यह आरोप पत्र मुंबई स्थित विशेष मनी लांड्रिंग रोधी कानून अदालत के समक्ष दायर किया गया है. एजेंसी ने इसमें अभियुक्तों के विरुद्ध जुटाये गए अतिरिक्त सबूतों और कुर्क की गई संपत्ति को रिकार्ड कराया है. अनुपूरक आरोप पत्र के ब्यौरे की प्रतीक्षा है.

ब्रिटेन (Britain) के एक समाचार पत्र ने नीरव मोदी के लंदन के वेस्ट एंड इलाके में 80 लाख पौंड के आलीशान अपार्टमेंट में रहने और नए सिरे से हीरा कारोबार शुरू करने की जानकारी दी है. अखबार की रपट के दो दिन बाद यह नया घटनाक्रम हुआ है.

VIDEO : जावड़ेकर ने कहा- भगोड़े को वापस लाएंगे


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ईडी ने 9 मार्च को कहा था कि ब्रिटेन के गृह मंत्री ने नीरव ( Neerav Modi ) के प्रत्यर्पण के भारत के आग्रह को हाल ही में आगे की कार्रवाई के लिए अदालत को प्रेषित किया है. ईडी ने नीरव मोदी और अन्य के खिलाफ बैंक धोखाधड़ी के मामले में पिछले साल मई में पहला आरोप पत्र दायर किया था. केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और ईडी पीएनबी की मुंबई स्थित ब्रेडी हाउस शाखा में हुए कथित घोटाले की जांच कर रहे हैं. इसमें नीरव मोदी और उनके मामा मेहुल चोकसी तथा अन्य लोगों की संलिप्तता को लेकर ये एजेंसियां जांच कर रही हैं.
(इनपुट एजेंसियों से भी)