बीजेपी की दिल्ली इकाई ने शराब की दुकान पर की सांकेतिक ‘तालाबंदी’

बीजेपी (BJP) की दिल्ली (Delhi) इकाई ने रविवार को मोती नगर में एक मंदिर के पास स्थित शराब की दुकान (Wine Shop) पर सांकेतिक तालाबंदी करके मांग की कि केजरीवाल सरकार राष्ट्रीय राजधानी में शराब की सभी अवैध दुकानों को बंद करे.

बीजेपी की दिल्ली इकाई ने शराब की दुकान पर की सांकेतिक ‘तालाबंदी’

बीजेपी ने कहा कि दुकान पर इसलिए ‘ताला लगाया' कि यह एक मंदिर के पास स्थित है. 

नई दिल्ली:

बीजेपी (BJP) की दिल्ली (Delhi) इकाई ने रविवार को मोती नगर में एक मंदिर के पास स्थित शराब की दुकान (Wine Shop) पर सांकेतिक तालाबंदी करके मांग की कि केजरीवाल सरकार राष्ट्रीय राजधानी में शराब की सभी अवैध दुकानों को बंद करे. यह कदम बीजेपी की दिल्ली इकाई द्वारा चेतावनी दिये जाने के दो दिन बाद उठाया गया है, जिसमें उसने अरविंद केजरीवाल सरकार को 48 घंटों के भीतर अवैध शराब की दुकानें बंद कराने को कहा था.

दिल्ली : आज से निजी शराब की दुकानों से नहीं खरीद सकेंगे अल्कोहल, जानें क्या है नया नियम

चेतावनी में यह भी शामिल था कि यदि केजरीवाल सरकार ऐसी दुकानें बंद कराने में विफल रहती है, तो आवासीय क्षेत्रों, स्कूलों और धार्मिक स्थलों के पास स्थित शराब की दुकानों पर तालाबंदी की जाएगी. पश्चिमी दिल्ली में शराब की दुकान के सामने मीडिया को संबोधित करते हुए बीजेपी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर ‘शराब माफिया का समर्थन करने' का आरोप लगाया. 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं केजरीवाल से कहना चाहता हूं कि वह शराब माफिया को फायदा पहुंचाने के लिए खोली गई सभी शराब की दुकानों को तुरंत बंद कराएं. यदि आप कोई कार्रवाई नहीं करते हैं तो बीजेपीकार्यकर्ता और नेता रिहायशी इलाकों, धार्मिक स्थलों, स्कूलों के पास स्थित इन दुकानों पर ताला लगाएंगे.

शराब की दुकानें 7 घंटे तो सब्जियों की दुकानें खुल रही हैं सिर्फ 3 घंटे, गुस्साई महिलाओं ने किया विरोध

''बीजेपी ने कहा कि दुकान पर इसलिए ‘ताला लगाया' कि यह एक मंदिर के पास स्थित है. गुप्ता ने केजरीवाल पर दिल्ली में कोई नई शराब की दुकान की अनुमति नहीं देने के अपने वादे पर खरा नहीं उतरने का आरोप लगाया. गुप्ता ने कहा, ‘‘केजरीवाल जी, आपने सात साल पहले स्वराज नाम की पुस्तक में कहा था कि शराब की कोई दुकान नहीं खुलेगी. मैं पूछना चाहता हूं कि सात साल पहले आपने जो विचार लिखे थे, क्या वे सत्ता में आने पर बदल गए?''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)