लखीमपुर खीरी केस में पादर्शिता से हो रही है जांच, भाई-बहन राजनीति कर रहे : यूपी के मंत्री बोले

लखीमपुर खीरी केस को लेकर यूपी के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर हमला करते हुए कहा कि केस में पादर्शिता से जांच हो रही है और भाई-बहन राजनीति कर रहे हैं. उनका यह बयान तब आया है जब इसके कुछ देर पहले ही राहुल गांधी ने इस मुद्दे को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी.

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर हमला करते हुए कहा कि लखीमपुर खीरी केस में पादर्शिता से जांच हो रही है और भाई-बहन राजनीति कर रहे हैं. उनका यह बयान तब आया है जब इसके कुछ देर पहले ही राहुल गांधी ने इस मुद्दे को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. राहुल गांधी आज लखीमपुर खीरी जाने की कोशिश करर रहे हैं, हालांकि यूपी सरकार की ओर से उन्हें इसकी इजाजत नहीं मिली है. राहुल ने बताया कि वो धारा 144 के चलते बस तीन लोग जा रहे हैं, इसके लिए चिट्ठी लिखी गई है.

मंत्री ने कांग्रेस नेताओं पर पलटवार करते हुए 1984 दंगों का जिक्र किया और कहा कि 'नरसंहार तो कांग्रेस के समय में हुआ था. भाई और बहन राजनीति कर रहे हैं. जब राहुल गांधी खुद कह रहे हैं कि किसी को जमीनी हकीकत पता नहीं है तो रोज क्यों जजमेंट पास किए जा रहे हैं?'


सिंह ने कहा कि यूपी सरकार ने कानून व्यवस्था को देखते हुए नेताओं को आने की इजाजत नहीं दी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके पहले भी सोमवार को राज्य सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने विपक्षी दलों के नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने को अशांति फैलाने वाला राजनीतिक स्टंट करार दिया है था. उन्होंने आरोप लगाया था कि, 'विपक्षी दल फोटो ऑप (तस्वीर खिंचवाने का मौका) हासिल करने और राजनीतिक फायदा लेने की फिराक में हैं. वे 2022 तक का जो राजनीतिक सफर तय करना चाहते हैं, वह लाशों पर नहीं हो सकता. सरकार नहीं चाहती कि लखीमपुर खीरी में शांति का माहौल बिगड़े. सरकार चाहती है कि शांतिपूर्ण माहौल में सही जांच हो और उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा सके.'