वो तो वकील हैं मिनटों का लाखों कमाते हैं : राज्यसभा में कपिल सिब्बल के न पहुंचने पर जेडीयू सांसद ने मारा ताना

जेडीयू के सांसद आरपीसी सिंह ने कहा कि कपिल जी कल तो बोल रहे थे, आज नहीं आए. उन्होंने ताना भी मारा वे तो वकील है, कितना कमाते  हैं. कुछ मिनटों के लिए जाते हैं और लाखों पाते हैं.

वो तो वकील हैं मिनटों का लाखों कमाते हैं : राज्यसभा में कपिल सिब्बल के न पहुंचने पर जेडीयू सांसद ने मारा ताना

कपिल सिब्बल राज्यसभा से अनुपस्थित हुए तो जेडीयू सांसद ने मारा ताना

राज्यसभा में कपिल सिब्बल  (Kapil Sibbal) के अनुपस्थित होने पर बीजेपी और जेडी(यू) ने उन पर हमला बोला. जेडीयू के सांसद आरपीसी सिंह ने कहा कि कपिल जी कल तो बोल रहे थे, आज नहीं आए. उन्होंने ताना भी मारा वे तो वकील है, कितना कमाते  हैं. कुछ मिनटों के लिए जाते हैं और लाखों पाते हैं. इस पर वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि आरसीपी सिंह ने एक महत्वपूर्ण सवाल उठाया है. एक केस के उन्हें लाखों मिलते हैं.

दरअसल, बुधवार को कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने विपक्ष की तरफ से आम बजट पर चर्चा की शुरुआत करते हुए सरकार पर कई आरोप लगाए थे और कहा था कि सरकार आर्थिक संकट से निपटने में नाकाम रही है साथी कपिल सिब्बल ने कहा था कि आम बजट में है बेरोजगारी और गरीबी दूर करने के लिए कोई प्रावधान नहीं किया गया है.


बता  दें कि बजट सत्र के दौरान बुधवार को राज्यसभा में कपिल सिब्बल और सुशील मोदी (Sushil Modi) के बीच भी गहमाहमी होती दिखाई दी. कांग्रेस सांसद ने बजट स्पीच को लेकर सवाल उठाए तो इसका जवाब बीजेपी नेता सुशील मोदी ने दिया. बुधवार को राज्यसभा में कार्यवाही के दौरान कपिल  सिब्बल ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान बेरोजगारी स्तर में हुई बढ़ोतरी पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि लोगों के पास रोजगार नहीं है लेकिन आपने तो बेरोजगारी का जिक्र भी नहीं किया. अपने बजट स्पीच (Budget Speech) में? लोग पैदल चलकर साइकिल पर बैठकर दूर अपने घर जाने को मजबूर हुए, और आपने उनको भुला दिया?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



इसके जवाब में सुशील मोदी ने कहा कि हमारा बजट रोजगार पैदा करने वाला बजट है, गरीबी दूर करने वाला बजट है. यह बजट भारत को आत्मनिर्भर बनाने वाला बजट है. अगर कैपिटल एक्सपेंडिचर अर्थव्यवस्था में बढ़ाई जाएगी तो रोजगार के बड़े स्तर पर नए अवसर पैदा होंगे. यह कहना गलत है कि बजट में रोजगार के लिए कुछ नहीं है.