असम नाव दुर्घटना का दिल दहलाने वाला वीडियो आया सामने, जान बचाने के लिए चीखते नजर आए यात्री

Assam Boat Accident: असम में बुधवार को गुवाहाटी (Guwahati) से 350 किमी दूर जोरहाट के निमाती घाट पर दो नाव एक दूसरे से टकरा गईं. जिस वक्त यह हादसा हुआ उस वक्त करीब 100 यात्री नावों पर सवार थे. घटना का एक दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है.

असम नाव दुर्घटना का दिल दहलाने वाला वीडियो आया सामने, जान बचाने के लिए चीखते नजर आए यात्री

असम नाव दुर्घटना: दुर्घटना के वक्त दोनों नावों पर काफी संख्या में लोग सवार थे.

नई दिल्ली:

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (Assam Cm Himanta Biswa Sarma) आज सुबह नाव दुर्घटना (Boat Accident) के बाद बचाव कार्यों का जायजा लेने के लिए जोरहाट पहुंचे. हादसे में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई है. बुधवार को गुवाहाटी (Guwahati) से 350 किमी दूर जोरहाट के निमाती घाट पर दो नाव एक दूसरे से टकरा गईं. जिस वक्त यह हादसा हुआ उस वक्त करीब 100 यात्री नावों पर सवार थे. यह दुर्घटना शाम करीब चार बजे हुई. इस घटना का एक दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है.

सरमा ने कहा, "कम से कम 90 लोग थे. एक की मौत हो गई और दो के लापता होने की सूचना है. अब तक 87 लोगों को बचाया गया है." उन्होंने कहा कि घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं. हादसे के बाद आतंरिक जल परिवहन विभाग के तीन अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है.

घटना का एक वीडियो कांग्रेस की एक शाखा अखिल भारतीय असंगठित श्रमिक कांग्रेस ने साझा किया है. वीडियो दो नावों के टकराने के बाद  की स्थिति नजर आती है. इनमें से एक नाव में मौजूद महिलाओं सहित यात्रियों चीखने और फिर नाव पर से पानी में कूदते नजर आते हैं. कुछ लोग तैरकर दूसरी बोट पर जाने की कोशिश करते नजर आते हैं. 

आंतरिक जल परिवहन विभाग की एक सरकारी यात्री नाव माजुली से करीब 120 यात्रियों को लेकर निमाती घाट की ओर आ रही थी, जबकि दूसरी नाव विपरीत दिशा में जा रही थी. 

जीवित बचे लोगों की तलाश में वायुसेना के हेलीकाॅप्टर से ब्रह्मपुत्र नदी पर उड़ान भर रहे हैं. सेना ने भी सहायता के लिए टीम भेजी है.  


अभी तक एक बच्चे सहित 42 लोगों को बचाया गया है, जिनमें से कइयों को अस्पताल भेजा गया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
* साम्प्रदायिक हिंसा रोकेगा असम का बीफ कंजम्प्शन बिल : हिमंत बिस्व सरमा
* "सदभावना के संकेत", असम ने मिजोरम के सांसद के खिलाफ केस वापस लिया