यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले सहयोगी दलों को 'साधने' में जुटी बीजेपी, चल रहा मुलाकातों का दौर

कुछ दिनों पहले अनुप्रिया पटेल ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से भी मुलाकात की थी. जिला पंचायत के चुनावों पर भी इस दौरान बात हुई थी. 

यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले सहयोगी दलों को 'साधने' में जुटी बीजेपी, चल रहा मुलाकातों का दौर

अरविंद कुमार शर्मा ने निषाद समाज के वरिष्ठ नेता डॉ संजय निषाद और संत कबीर नगर से सांसद प्रवीण निषाद से भेंट की

खास बातें

  • अमित शाह से मिलीं अपना दल की अनुप्रिया पटेल
  • निषाद समाज के नेता संजय निषाद से मिले एके शर्मा
  • योगी कैबिनेट में खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे सहयोगी दल
नई दिल्ली:

आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े राज्‍य उत्‍तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने राज्‍य के सहयोगी दलों को साथ लेने की कवायद शुरू कर दी है. 'अपना दल' की अनुप्रिया पटेल ने गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. उधर, इसी साल प्रशासनिक सेवा से स्वैच्छिक सेवानिवृति लेकर बीजेपी में शामिल होने वाले अरविंद कुमार शर्मा ने निषाद समाज वरिष्ठ नेता डॉ संजय कुमार निषाद और संत कबीर नगर से सांसद प्रवीण निषाद से दिल्ली में मुलाकात की. बताया जाता है कि सहयोगी दल, योगी मंत्रिमंडल में खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं. अपना दल को जगह मिलने पर चर्चा हुई.

आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर सहयोगी दलों से चर्चा का दौर आगे भी जारी रहेगा. गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले अनुप्रिया पटेल ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से भी मुलाकात की थी. जिला पंचायत के चुनावों पर भी इस दौरान बात हुई थी. अपना दल चाहता है कि मिर्जापुर और बांदा समेत कुछ अन्य जिलों में जिला पंचायत का अध्यक्ष पद उसे दिया जाए. विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी, सहयोगी दलों को साथ लेना चाहती है जबकि सहयोगी दलों को सम्मान और पद न मिलने का मलाल है. गौरतलब है कि अनुप्रिया पटेल को इस बार मोदी मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com